पटना, जेएनएन। गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (गेल) प्राकृतिक गैस पाइपलाइन की सुरक्षा के लिए पक्के पिट का निर्माण कराएगा। यहां से दानापुर कैंट तक गैस आपूर्ति को नियंत्रित करने के लिए वॉल्व को दुरुस्त करने का काम शुरू कर दिया गया है। गेल सूत्रों के अनुसार इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में प्राकृतिक गैस आपूर्ति के लिए बनाए गए पक्के पिट की तरह जगदेव पथ पर भी पिट का निर्माण कराया जाएगा। इससे बार-बार मिट्टी खोदने की परेशानी दूर हो जाएगी।


पटना में पाइपलाइन से गैस रिसाव की खबर पर गेल के कार्यपालक निदेशक ने सोमवार की शाम ही रांची से पटना में अधिकारी भेजा है। पटना पहुंचते ही रात में अधिकारियों की टीम ने जगदेव पथ मोड़ पर हुए गैस रिसाव का मुआयना किया। रिसाव नियंत्रित होने के बाद अग्नि दुर्घटना की चेतावनी वाले बोर्ड को हटा दिया गया। मौके पर एहतियात के तौर पर 24 घंटे फायर ब्रिगेड की गाड़ी तैनात रखने का निर्देश दिया गया है। स्थानीय लोगों के अनुसार फायर ब्रिगेड की गाड़ी देर से आती है और पहले चली जाती है।

सोमवार की रात 8.20 बजे मौके से वह गायब हो गई। दूसरी गाड़ी रात 11.00 बजे पहुंची। सूत्रों के अनुसार गेल ने जगदेव पथ से दानापुर कैंट का पाइप जोड़ने के लिए हाइड्रो टेस्ट का काम शुरू कर दिया है। बताया गया कि पाटलिपुत्र रेल लाइन और बेली रोड नहर की सतह से नीचे पाइप बिछा दिया गया है। दानापुर कैंट तक पाइपलाइन की लीकेज जांच की प्रक्रिया पूरी करने के बाद इसे जगदेव पथ से जोड़ दिया जाएगा। यहां से दानापुर की ओर आपूर्ति होने वाली गैस का दबाव नियंत्रित किया जा सकेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस