पटना । पटना एयरपोर्ट पर टिकट लेकर टर्मिनल भवन के अंदर जाने वाले सहयात्री अथवा विजिटर्स अब ऐसा नहीं कर सकेंगे। टर्मिनल भवन में केवल फ्लाइट से जाने वाले यात्रियों को ही प्रवेश करने की इजाजत दी गई है। 14 नवंबर से विजिटर्स का एयरपोर्ट के टर्मिनल भवन में प्रवेश बंद कर दिया गया है। शुरूआती तौर पर यह व्यवस्था 25 मार्च तक तक लागू रहेगी। इसके बाद भी टर्मिनल भवन के अंदर भीड़ रही तो विजिटर्स की एंट्री हमेशा के लिए बंद कर दी जाएगी।

इस बाबत एयरपोर्ट अथॉरिटी के कार्यपालक निदेशक केएल शर्मा एवं एयरपोर्ट निदेशक राजेन्द्र सिंह लाहोरिया ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए स्वीकार किया कि शुक्रवार को एयरपोर्ट पर काफी भीड़ जमा हो गई थी। घने कोहरे के कारण पांच घंटे तक कई फ्लाइट्स लैंड नहीं कर सकी थीं।

भीड़ से निपटने को प्रबंधन की ओर से कई निर्णय लिए गए हैं। अब टर्मिनल भवन के अंदर 'चेक इन' करने वही यात्री जाएंगे जिनके विमान आने में एक से दो घंटे शेष रह गए हों। इससे अधिक विलंब से आने वाले विमानों के यात्रियों के बैठने के लिए बाहर व्यवस्था की जा रही है। बाहर 3000 वर्गफीट क्षेत्र में शेड लगाकर लगभग 300 यात्रियों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है। जिनकी फ्लाइट आने में 2 घंटे से अधिक विलंब है उनके बैठने के लिए बाहर व्यवस्था की जाएगी। बाहर भी पूरी सुरक्षा दी जाएगी। वहां भी किसी दूसरे को बैठने नहीं दिया जाएगा। वह भी टर्मिनल भवन का ही एक हिस्सा होगा। इसके साथ ही बिहार हैंगर की जमीन का स्थानांतरण शीघ्र होने वाला है। यहां दो-दो पार्किंग बे बनाए जाएंगे। इसे अगले साल सितंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। तीसरी व्यवस्था यह होगी कि लेट आने वाले विमानों के यात्रियों को घर से निकलने के पहले ही संबंधित कंपनियां एसएमएस से सूचित कर देंगी जिससे वे घर से समय को ध्यान में रखकर ही निकल सकें।

:: इंडिगो व गो एयर की रद रही एक-एक फ्लाइट ::

घने कोहरे के कारण इंडिगो के लखनऊ जाने वाली विमान 6ई 630 को रद कर दिया गया। शनिवार को यह विमान पटना एयरपोर्ट पर नहीं आ सका। इसी तरह गो एयर की फ्लाइट संख्या जी 8131 दिल्ली से आने वाले विमान की ऑपरेशनल दिक्कतों के कारण रद कर दी गई। इसके साथ ही जेट एयरवेज के अतिरिक्त विमान संख्या 9डब्लू 1730 शनिवार को काफी विलंब से 12.04 बजे पहुंचा। इससे यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। शनिवार को भी एयरपोर्ट पर भीड़ बनी रही परंतु शुक्रवार की तरह अराजक स्थिति नहीं थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस