पटना। कोरोना वायरस के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए रेलवे की ओर से लॉकडाउन के बाद ट्रेनों में बैठने वाले यात्रियों के सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जा रही है। यह सुविधा तब तक रहेगी जबतक संक्रमण के मामले आते रहेंगे। ट्रेन पर सवार होने के दौरान कोई यात्री कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में नहीं आए, इसके लिए दानापुर मंडल रेल प्रबंधन की ओर से पटना जंक्शन, राजेंद्रनगर टर्मिनल, पाटलिपुत्र व दानापुर स्टेशन पर सैनिटाइजर स्कैनर लगाए जा रहे हैं। पटना जंक्शन पर जहां मुख्य परिसर के साथ ही करबिगहिया स्थित प्रवेशद्वार पर स्कैनर लगाए जा रहे हैं। वहीं राजेंद्रनगर टर्मिनल, दानापुर व पाटलिपुत्र स्टेशन पर एक-एक सैनिटाइजर स्कैनर लगेगा। दानापुर मंडल रेल प्रबंधक सुनील कुमार ने बताया कि पहले ट्रायल के तौर पर दानापुर कोचिंग कांप्लेक्स व राजेंद्रनगर कोचिंग कांप्लेक्स में काम करने वाले रेलकर्मियों के लिए एक-एक सैनिटाइजर स्कैनर लगाए गए हैं। एक-दो दिन तक ट्रायल चलेगा। इसके बाद शक्तिशाली व बड़े आकार के स्कैनर पटना जंक्शन समेत चारों स्टेशनों पर लगेंगे। कोई भी यात्री इसी स्कैनर से गुजरने के बाद प्लेटफॉर्म पर जा सकेगा। यह व्यवस्था अन्य बड़े स्टेशनों पर भी की जा रही है ताकि वहां से भी यात्री सैनेटाइज होकर ही ट्रेन में सवार हो सकें। सैनिटाइजर स्कैनर कैसे करेगा काम : स्टेशनों पर लगाए जाने वाले स्कैनर काफी शक्तिशाली होंगे। इसमें हाई प्रेशर जेट मशीन लगी रहेगी। पूरे स्कैनर में चार नोजल लगे रहेंगे। यह पूरी तरह सेंसरयुक्त होगा। जैसे ही कोई भी यात्री इस स्कैनर में कदम रखेगा मशीन ऑटोमैटिक ढंग से चालू हो जाएगी। यात्री के अंदर प्रवेश करते ही एक-एक करके चारों नोजल से सैनिटाइजर का स्प्रे निकलेगा जो पूरे शरीर को सैनिटाइज कर देगा। नोजल का कनेक्शन पास के ही टैंक से जुड़ा रहेगा जिसमें डिसइंफेक्टेंट लिक्विड भरा रहेगा। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यात्रियों को सैनिटाइज करने की व्यवस्था की जा रही है। दानापुर मंडल के पटना जंक्शन, दानापुर, राजेंद्रनगर टर्मिनल व पाटलिपुत्र स्टेशन पर सैनिटाइजर स्कैनर लगाए जा रहे हैं। अभी ट्रायल के लिए आरएनसीसी व दानापुर कोचिंग कांप्लेक्स में ऐसे दो स्कैनर्स लगाए गए हैं। - सुनील कुमार, मंडल रेल प्रबंधक, दानापुर।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस