सिवान, जागरण संवाददाता। सिवान के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के जुड़कन गांव में मस्जिद के पीछे दोपहर जोरदार बम विस्‍फोट (Bomb Blast) हो गया। इस घटना में पिता-पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गए। बम विस्‍फोट की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे स्थानीय लोगों में सनसनी फैल गई। आनन-फानन में लोगों ने घायल पिता-पुत्र को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। वहां स्थिति नाजुक देख दोनों को प्राथमिक उपचार बाद पटना रेफर कर दिया गया। घायल जुड़कन निवासी विनोद मांझी और उसका तीन वर्षीय पुत्र सत्यम कुमार है। चिकित्सकों ने बताया कि विस्‍फोट के कारण विनोद का शरीर काफी जल गया था। उसकी स्थिति नाजुक थी।

गांव का ही एक व्‍यक्ति दे गया था झोला 

पुलिस की मानें तो झोला देने वाला व्यक्ति भी इस घटना में घायल हुआ है लेकिन वह पुलिस की गिरफ्त से दूर है। वहीं एसपी ने मुजफ्फरपुर से एफएसल टीम को मामले की जांच के लिए बुलाया है और मामले के उद्भेदन के लिए टीम का गठन कर दिया है। एफएसएल टीम के देर शाम तक जिले में पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही थी। विनोद की पत्‍नी ने बताया कि दोपहर में घर से कुछ दूरी पर जुड़कन मस्जिद के पीछे शर्मा मांझी और मिठाई मांझी का करकट का बथान है। वहां उसके पति और बेटे दोपहर में बैठे थे। इसी बीच गांव का सगीर साईं एक झोला लेकर आया। उसने मेरे पति को झोला थमाते हुए कहा कि एक घंटे में एक व्‍यक्ति आएगा तो उसे यह झोला दे देना। यह कहकर वह वापस लौट रहा था। इसी बीच झोला में विस्फोट हो गया। बम के धमाका से बथान का करकट, ईंट वगैरह क्षतिग्रस्त हो गए।

झोला देने वाला कहां है, लेने क‍िसे आना था

विनोद मांझी की पत्‍नी के अनुसार सगीर ने झोला देते समय कहा था कि कोई उसे लेना आएगा। लेकिन यह संयोग था कि उससे पहले ही विस्‍फौट हो गया। अब पुलिस सगीर के साथ उस व्यक्ति को भी ढूंढ़ रही है जो झोला  लेने के लिए आने वाला था। एसपी एसपी डॉ. अभिनव कुमार ने बताया कि जांच के लिए एएफएसएल की टीम को बुलाया गया। इसके लिए एक जांच टीम का गठन किया गया हैं। सूचना मिली है कि झोला देने वाला सगीर भी घायल हुआ है लेकिन उसका इलाज कहां चल रहरा है इसकी जानकारी अभी नहीं हुई है। 

गौरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले बांका और फिर दरभंगा में हुए ब्‍लास्‍ट का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा कि इस तरह की तीसरी घटना हो गई। ऐसे में पुलिस भी चौकस हाे गई है। समीर की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।  

Edited By: Vyas Chandra