पटना, जेएनएन। बिहार में अपराधी मान नहीं रहे हैं। अपराधियों ने अब खगडिय़ा में मुखिया पति की गोली मारकर हत्या कर दी है। खगडि़या में ही किशोरी की भी हत्‍या कर दी गई है। इसके साथ ही बेतिया में भी नाबालिग लड़की की हत्‍या की चर्चा है। हालांकि, उसका शव अब तक नहीं मिला है। बता दें कि पिछले सप्‍ताह एक ही दिन में बिहार में दो मुखिया की हत्‍या कर दी गई थी। इसके अलावा अन्‍य जिलों में हत्‍या की घटनाएं थम नहीं रही हैं। सोमवार को ही आरा में एक विधवा को लोगों ने जमीन के लिए मार डाला।

खगडि़या में मुखिया के पति को मार डाला
खगडिय़ा से जेएनएन
के अनुसार खगडिय़ा के मोरकाही थाना क्षेत्र की उत्तरी माडऱ पंचायत की मुखिया रागिनी देवी के पति व भाजपा कार्यकर्ता नंदलाल पासवान की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बीती रात घटना के समय मुखिया पति घर का दरवाजा खुला छोड़कर सोए हुए थे। दो बाइक पर सवार होकर अपराधी उनके घर पर आए और सोई अवस्था में ही गोली मारकर फरार हो गए। आसपास के लोगों ने आनन-फानन में गंभीर रूप से जख्मी पासवान को सदर अस्पताल पहुंचाया, लेकिन वहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। आपसी रंजिश को लेकर इस घटना को अंजाम देने का संदेह व्यक्त किया जा रहा है। एसपी मीनू कुमारी ने बताया कि संदेह के आधार पर दो लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

घटना को लेकर लोगों में काफी गुस्‍सा है। गंभीर हालात को देखते हुए ऑपरेशन एएसपी राजकुमार राज, सदर एसडीपीओ आलोक रंजन, सदर बीडीओ राजेश कुमार राजन, नगर थानाध्यक्ष अविनाशचंद्र , पसराहा थानाध्यक्ष प्रियरंजन, चित्रगुप्तनगर थानाध्यक्ष सुबोध पंडित समेत भारी संख्या में पुलिस बल सदर अस्पताल में कैंप किए हुए थे। डीएम अनिरुद्ध कुमार व एसपी मीनू कुमारी द्वारा समझाने-बुझाने के बाद और मुआवजा देने का आश्वासन देने के बाद परिजन व ग्रामीण शव का पोस्टमार्टम कराने को तैयार हुए। 

खगडि़या में ही किशोरी की भी हत्‍या
इतना ही नहीं, खगडि़या में ही किशोरी खगडिय़ा जिले के चौथम थाना क्षेत्र के तेलौंछ पंचायत स्थित पहाड़चक गांव में एक युवक ने दिनदहाड़े पड़ोस में रहने वाली एक किशोरी के घर में घुसकर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। उसका नाम शोभा कुमारी (15) था। वह पहाड़चक गांव के रङ्क्षवद्र साह की पुत्री थी। अचानक घर में गोली चलने की आवाज सुनकर लड़की के परिजन उधर दौड़े तो उन्होंने शोभा को खून से लथपथ पड़ा पाया। उसे अस्पताल ले जाते वक्त ही मौत हो गई। शोभा की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष निलेश कुमार पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जांच की। किशोरी के परिजनों ने पड़ोस में रहने वाले राजकुमार शर्मा के पुत्र कृष्ण कुमार (25) पर गोली मारकर उसकी हत्या करने का आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि कुछ दिनों से वह उनकी बेटी के साथ अपनी शादी कराने का दबाव डाल रहा था। उनके इंकार करने पर उसने शोभा की हत्या कर दी। 

बेतिया में नाबालिग की हत्या की चर्चा, शव की हो रही तलाश

बेतिया से जेएनएन के अनुसार, गौनाहा थाना क्षेत्र के बेलवा बहुअरी गांव में एक युवक द्वारा करीब चार माह पहले बेतिया मुफस्सिल थाना क्षेत्र के एक गांव से बहला फुसलाकर भगा लाई गई नाबालिग की हत्या कर लाश गायब करने का मामला प्रकाश में आया है। सूचना पर गौनाहा के थानाध्यक्ष राम अयोध्या पासवान के नेतृत्व में सोमवार की शाम से ही लाश की तलाश में जुटी हुई है। दूसरे दिन मंगलवार को भी पुलिस लाश की तलाश में लगी रही। नाबालिग को भगाकर लाने वाले युवक और उसके परिजन घर छोड़कर फरार हैं। हालांकि, नाबालिग का शव अब तक बरामद नहीं किया जा सका है। गांव का कोई व्यक्ति इस घटना के बारे में अपनी मुंह नहीं खोल रहा है, मगर वहां बनी स्थिति बहुत कुछ बयां कर रही है।

मिली सूचना और आसपास हो रही चर्चा के अनुसार चार माह पूर्व बेलवा- बहुअरी गांव के राधा साह का 16 वर्षीय पुत्र संदीप कुमार अपने किसी संबंधी के यहां से 15 वर्षीया एक लड़की को बहला-फुसलाकर अपने घर लाया। दोनों पति - पत्नी के रूप में रहने लगे। इस क्रम में रविवार को युवक संदीप कुमार ने किसी बात को लेकर उसे बेरहमी से पीटा। अगले रोज सोमवार को सुबह पता चला कि लड़की की मौत हो गई है। इसके बाद दोपहर में उसके घर वाले चोरी-छिपे किसी संदिग्ध वस्तु को चटाई में लपेटकर गांव से पूरब सरेह की ओर गए। पुलिस को सूचना मिली है कि वह संदिग्ध वस्तु नाबालिग का शव था। सूत्रों के अनुसार शव को गांव से कुछ दूर रेलवे लाइन से पूरब दुल्हीनिया नाला में फेंका गया। हालांकि मंगलवार को भी शव का पता नहीं चल सका है। 

बिहार में एक ही दिन दो-दो मुखिया की हो गई थी हत्या 

बिहार में 5 अगस्‍त की देर रात दो मुखिया की हत्‍या बदमाशों ने कर दी थी। पहली हत्‍या भोजपुर जिले में हुई तो दूसरी बांका जिले में। भोजपुर के गड़हनी थाना क्षेत्र अंतर्गत संहगी गांव में देर रात अपराधियों ने मुखिया मुखिया अरुण सिंह (48) की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वारदात को अंजाम देने के बाद वे आराम से फरार हो गए। उधर, बांका जिले में भी मुखिया की हत्‍या कर शव को फेंक दिया गया था। जिले के अमरपुर, फतेहपुर गांव के मुखिया रविन्द्र दास को बदमाशों ने हत्‍या कर शव को फेंक दिया था। उनका शव मंगलवार की सुबह भागलपुर के सबौर के सरधो में मिला था।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस