मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पटना [जागरण टीम]। बिहार के दरभंगा जिले के भदवा में भाजपा नेता की हत्या भूमि विवाद में नहीं बल्कि नरेंद्र मोदी चौक नामकरण के कारण ही हुई थी। यह बात दिवंगत रामचंद्र यादव के परिजनों को सांत्वना देने दरभंगा के भदवा पहुंचे प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कही। उन्होंने कहा कि पीडि़त परिवार को हर हाल में न्याय मिलेगा। हालांकि राय का यह बयान उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के उस ट्वीट से अलग है जिसमें उन्होंने भूमि विवाद में हत्या होने की बात कही थी।
शनिवार को भदवा पहुंचे नित्यानंद राय ने कहा कि सरकार को गलत सूचना देने वाले पुलिस अफसरों पर कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, उनके साथ आए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि पुलिस मामले को डायवर्ट कर रही है। पुलिस को इस घटना में जख्मी कमलदेव उर्फ भोला के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करनी चाहिए थी।
गुरुवार की रात भदवा में भाजपा नेता रामचंद्र यादव की हत्या किए जाने के बाद परिजन से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय ने रामचंद्र यादव के बेटे तेजनारायण समेत अन्य लोगों से मुलाकात की और उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिया।
नित्यानंद राय ने हत्या के कारण को लेकर स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि हत्याकांड की वजह भूमि विवाद बताना गलत है। यह पार्टी की राय नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता की हत्या के दोषियों को सजा मिलनी चाहिए। मामले पर पर्दा डालने वाले पुलिस अफसरों की भूमिका की जांच होनी चाहिए। पुलिस ने हत्या के वास्तविक कारणों पर पर्दा डालने का काम किया है। पीडि़त परिवार को इन अफसरों से न्याय नहीं मिला तो दूसरे से जरूर मिलेगा। भाजपा सरकार को वास्तविकता से अवगत कराएगी। 
वहीं, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि पुलिस ने घर की एक निरक्षर महिला के अंगूठे का निशान लेकर प्राथमिकी दर्ज कर ली। जबकि उसे जख्मी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करनी चाहिए थी। पुलिस का यह आचरण संदिग्ध है। इस मामले को सरकार तक पहुंचाया जाएगा। भाजपा नेताओं ने दरभंगा मेडिकल कालेज अस्पताल (डीएमसीएच) पहुंच कर इस घटना में घायल स्व. रामचंद्र यादव के पुत्र कमलदेव यादव का हाल भी जाना।
वहीं, सुशील मोदी ने ट्वीट कर बताया था कि यह आरोप पूरी तरह से गलत है कि दरभंगा में हुई हत्या मोदी चौक नाम रखने की वजह से हुई है। यह जमीन विवाद का मामला है। मोदी चौक नाम का बोर्ड यहां पर बहुत पहले से लगा हुआ है। हत्या का बोर्ड से कोई लेना-देना नहीं है।

इतना ही नहीं, दरभंगा के एसएसपी सत्य वीर सिंह ने भी कहा था कि यह जमीन विवाद का पुराना मामला था और इसका नरेंद्र मोदी चौक नाम रखने से कोई संबध नहीं है। उन्होंने अपनी निजी जमीन का नाम मोदी चौक रखा था। एसएसपी ने यह भी कहा कि भाजपा कार्यकर्ता के बेटों को भी बुरी तरह पीटा गया। उन्होंने दावा किया कि गांव में अब कोई तनाव नहीं है।

बता दें कि शुक्रवार की शाम को दरभंगा में भाजपा कार्यकर्ता के पिता की अपराधियों ने तलवार से टुकड़े-टुकड़े काटकर उनकी हत्या कर दी थी। भाजपा कार्यकर्ता कमलेश यादव के घर 40-50 लोग तलवार लेकर पहुंचे और परिवार के सदस्यों पर हमला कर दिया। इस हमले में उनके पिता का सिर काट दिया गया जबकि उनके भाई गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप