जागरण टीम, पटना। जनता दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद सोमवार को मीडिया को संबोधित करते हुए बिहार सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोग शराबबंदी कानून लागू होने के बाद भी गड़बड़ी कर रहे हैं। ऐसे लोगों पर सरकार कड़ी नजर रख रही है। उन्होंने कहा कि  ऐसी कोशिश की जा रही है कि शराब पीकर बोतल फेंकने वाले की तस्वीर इजात कर ली जाए। नीतीश ने कहा कि पियक्कड़ों की एक-एक हरकतों पर नजर रखी जा रही है। सीएम ने कहा कि अब लोग कहीं भी बोतल देख लेते हैं तो उसी घटना को लेकर चर्चा शुरू कर देते हैं, ऐसे में सरकार ने भी अपनी ओर से सजगता बढ़ा दी है। इस दौरान नीतीश ने जातीय जनगणना को लेकर कहा कि जल्द ही इसको लेकर सर्वदलीय बैठक की जाएगी। राज्य के सभी दल जातिगत जनगणना कराने के पक्ष में हैं। 

बिहार में शराब की खाली बोतल मिलने से जुड़े सवाल के जवाब में नीतीश कुमार ने कहा कि हमारा अच्छा काम दिल्ली के अखबारों में नहीं छपता, पर शराब से जुड़े मामले जरूर पब्लिश किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि मैं जब न्यूज पेपर देखता हूं तो समझ जाता हूं कि मामला क्या है। उन्होंने कहा इसके बावजूद हर चीजों को गंभीरता से लिया जा रहा है।

पटना पर रखनी है विशेष नजर

नीतीश कुमार ने कहा कि केवल अफवाह पर ध्यान नहीं देना है। पटना पर विशेष नजर रखनी है। राजधानी को पहले नियंत्रित करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में शराबबंदी को सफल बनाने के लिए एक्शन काफी हो रहा है, इसका असर भी देखने को मिल रहा है। ऐसी कोशिश की जा रही है कि शराब पीकर बोतल फेंकने वाली की तस्वीर सामने आ जाए। उन्होंने कहा कि शराब मामले से जुड़ी समस्याएं जनता दरबार में भी आई हैं, इसपर तत्काल कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। 

Edited By: Akshay Pandey