पटना, जेएनएन। Nitish Kumar becomes unopposed National President of JDU: बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार निर्विरोध जदयू के अध्यक्ष बने। रविवार को अपराह्न तीन बजे नाम वापसी का समय समाप्त होते ही हुई उनके निर्वाचन की घोषणा कर दी गई। दिल्‍ली में उनके प्रतिनिधि संजय गांधी ने जीत का प्रमाणपत्र किया। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में बाढ़-जमाव और दुर्गापूजा के कारण नामांकन के समय भी दिल्‍ली नहीं जा सके थे और आज भी प्रमाण पत्र लेने नहीं जा सके। ऐसे में उनके प्रतिनिधि ने दिल्‍ली में नीतीश कुमार के बदले प्रमाण पत्र प्राप्‍त किया। इधर नीतीश कुमार के दोबारा राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनने पर पार्टी के नेताओं समेत एनडीए के लोगों ने बधाई दी है।

बता दें कि दो दिन पहले शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से दिल्ली में जंतर-मंतर स्थित जेडीयू के केंद्रीय कार्यालय में उनके प्रतिनिधि विधान पार्षद संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी ने चार सेट में  पार्टी के राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी अनिल हेगड़े के समक्ष नामांकन पत्र दाखिल किया था। उनके अलावा किसी और ने नामांकन दाखिल नहीं किया। रविवार को अपराह्न तीन बजे तक नाम वापसी का अंतिम समय था। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नामांकन के बाद शनिवार को नामांकन पत्र की जांच हुई। 

इसे भी पढ़ें: Durga Puja 2019: भक्ति में सियासत का तड़का; दुर्गा पंडाल में लगीं लालू-राबड़ी की प्रतिमाएं

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव संपन्न होने के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं के लिए अब प्रशिक्षण का कार्यक्रम आरंभ किया जाएगा। इस बार पार्टी ने तय किया है कि युवा कार्यकर्ताओं की टीम को पटना में प्रशिक्षण देकर उनके माध्यम से जिलों में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन होगा। प्रशिक्षण में चुनाव को केंद्र में तो रखा ही जाएगा, साथ ही साथ सरकार द्वारा चलाए जा रहे सामाजिक अभियान के बारे में भी जेडीयू अपने कार्यकर्ताओं को विशेष रूप से बताएगा।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप