पटना, जेएनएन। बिहार में कोरोना वायरस को लेकर शनिवार को सीएम नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक की। इसके साथ ही उन्‍होंने जिलों के तमाम डीएम से वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग पर बात की। जनता कर्फ्यू को लेकर भी सरकार ने पूरी तैयारी कर रखी है। सूत्रों की मानें तो कोराेना वायरस के प्रभाव को देखकर नीतीश सरकार बिहार में विशेष पैकेज की भी घोषणा कर सकती है। वहीं, बिहार में मंदिरों-मठों को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। सियासी गलियारे में भी उथल-पुथल है। लालू के दोनों लाल ने कोरोना से लड़ाई को मोर्चा संभाला है। भाजपा नेताओं ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए अपील की है। राजद-कांग्रेस ने भी कहा है वह सिस्‍टम के साथ है। जानें कोरोना वायरस के राउंडअप में एक साथ दिनभर की गतिविधियां। 

95 नमूनों में से 80 की रिपोर्ट निगेटिव 

कोरोना आशंकित 25 लोगों के नमूने शनिवार को जांच के लिए अगमकुआं स्थित आरएमआरआइ पहुंचे। शाम तक विभिन्न सरकारी मेडिकल कॉलेजों से प्राप्त 95 नमूनों में से 80 की रिपोर्ट निगेटिव आई है जबकि 15 नमूनों की जांच जारी है। वहीं पीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड से पांच लोगों को निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद डिस्चार्ज कर पांच नए लोगों को भर्ती किया गया। कुल सात लोगों के सैंपल पीएमसीएच से आरएमआरआइ भेजे गए हैं।निदेशक डॉ. प्रदीप दास ने बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार की इकाई भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के दिशा-निर्देशानुसार आरएमआरआइ में बिहार भर से आए नमूनों की जांच की जा रही है। जांच में वैज्ञानिकों एवं प्रशिक्षित तकनीशियनों की टीम जुटी है। पुणे स्थित वायरोलॉजी लैब एवं आरएमआरआइ में हुई कोरोना के नमूनों की जांच रिपोर्ट का मिलान होने के बाद ही इस संस्थान को नमूनों की जांच के लिए सरकार ने अधिकृत किया है। वहीं, पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. बिमल कारक ने बताया कि शनिवार को निगेटिव रिपोर्ट वाले पांच लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। खाली पांच बेड पर नए आशंकितों को रखा गया है। कुल सात लोगों के नमूने जांच के लिए आरएमआरआइ भेजे गए हैं।

नीतीश ने की समीक्षा बैठक

कोरोना वायरस को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक कर अधिकारियों को आवश्‍यक निर्देश दिए। बिहार के बाहर से यहां आने वाले यात्रियों पर पैनी नजर रखने को कहा तथा सभी का अनिवार्य रूप से सघन स्‍क्रीनिंग कराने को कहा। उन्होंने यह निर्देश दिया कि विमान, रेल व बस से आ रहे सभी यात्रियों की सघन स्क्रीनिंग करायी जाए। उन्होंने टेस्टिंग लैब बढ़ाने के लिए भी कार्रवाई का निर्देश दिया। सीएम ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग कोरोना वायरस के संक्रमण से निबटने के लिए की जा रही व्यवस्था, कंट्रोल रूम नंबर और टोल फ्री नंबर से आम लोगों को अवगत कराए।

कोरोना प्रभाव को देख राहत पैकेज का एलान कर सकती बिहार सरकार

कोरोना वायरस को केंद्र में रख बिहार सरकार मजदूरों और गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर कर रहे लोगों के लिए राहत पैकेज का एलान कर सकती है। इस क्रम में निबंधित मजदूरों के खाते में सहायता राशि स्थानांतरित की जा सकती है और गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर कर रहे लोगों को मुफ्त राशन भी दिए जा सकते हैैं। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी से जब इस संदर्भ में बात की गयी तो उन्होंने कहा कि सरकार गंभीरता से इस पर विचार कर रही है। जल्द ही कोई निर्णय लिया जाएगा। कोरोना वायरस का असर मजदूरों की आर्थिक स्थिति पर बड़े स्तर पर पड़ा है। निर्माण कार्य व मजदूरी से जुड़े अन्य कार्य प्रभावित हो रहे हैैं। इस वजह से उन्हें काफी परेशानी हो रही है। हाल में उप्र सरकार ने यह निर्णय लिया है कि निर्माण कार्य में लगे निबंधित मजदूरों के खाते में एक हजार रुपए भेजे जाएंगे। इसके अतिरिक्त बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल मुफ्त में पीडीएस दुकानों के माध्यम से मिलेगा। अनाज को ले दिल्ली की सरकार ने भी निर्णय लिया है। 

कोरोना के चार संदिग्ध एम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती

कोरोना के चार संदिग्ध को एम्स के आइसोलेशन वार्ड में शनिवार को भर्ती किया गया। नोडल अधिकारी डॉक्टर नीरज अग्रवाल ने बताया कि सैंपल जांच के लिए आरएमआरआइ भेजा गया है। रविवार तक जांच रिपोर्ट आ जाएगी।

धनरुआ में कोरोना का संदिग्ध मिला, पीएमसीएच रेफर

संवाद सूत्र, धनरुआ : कादिरगंज थाना अंतर्गत मुजफ्फरपुर गांव मे शनिवार की शाम एक कोरोना के  संदिग्ध व्यक्ति के मिलने की सूचना पर हेल्थ टीम गांव पहुंची और संदिग्ध को लेकर पीएमसीएच चली गई। शेखर महतो दो दिन पूर्व ही दिल्ली से आया था।

पीएमसीएच में वैशाली व समस्तीपुर के डीएम ने कराई जांच

वैशाली और समस्तीपुर के डीएम ने शनिवार को पीएमसीएच में कोरोना संक्रमण की जांच के लिए अपने रक्त के नमूने दिए। डॉक्टरों ने उनके सैंपल आरएमआरआइ भेज दी है। उन्हें 14 दिन होम क्वारंटाइन पर रहने की सलाह दी गई है। बताया जाता है कि दोनों डीएम को आशंका है कि वे कोरोना संदिग्धों के संपर्क में आ गए हैं, इसलिए चिकित्सकों से एहतियातन के तौर पर जांच कराने की बात कही है। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि हाल ही में उन्होंने शायद कोरोना प्रभावित राज्यों की यात्रा की है।

31 तक श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे बिहार के 4500 मंदिर-मठ

बिहार राज्य धार्मिक न्यास पर्षद से जुड़े राज्य के साढ़े चार हजार मंदिर व मठ 31 मार्च तक श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे। यह जानकारी पर्षद के अध्यक्ष अखिलेश कुमार जैन ने शनिवार को न्यास बोर्ड में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहीं। अध्यक्ष के अनुसार कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के खतरे को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया गया है। ऐसे में लोग अपने आप को सुरक्षित रखते हुए भीड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करने के साथ ही लोगों को भी जागरूक करें। पर्षद के अध्यक्ष के अनुसार कबीर मठ, राम जानकी मंदिर, ठाकुरबाड़ी, शिव मंदिर, हनुमान मंदिर, काली मंदिर, सूर्य मंदिर आदि के न्यासी महंत, पुजारी एवं समिति के सदस्य अपने मंदिर परिसर में किसी प्रकार को कोई धार्मिक आयोजन 31 मार्च तक न कराएं। नवरात्र और छठ को देखते हुए भी किसी प्रकार का कोई आयोजन नहीं होगा। मंदिर में सिर्फ पुजारी भगवान की आरती व नियमित पूजा-पाठ करेंगे। 

24 मार्च तक बंद रहेंगी प्रदेश की सर्राफा दुकानें

पीएम मोदी की अपील पर जनता कर्फकफ्र्यू वैसे तो सिर्फ रविवार को ही है, लेकिन प्रदेश की सर्राफा दुकानें लगातार अगले तीन दिनों तक बंद रहेंगीं। पाटलिपुत्र सर्राफा संघ के अध्यक्ष विनोद कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में शनिवार को यह निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए संघ की कोर कमेटी ने यह निर्णय लिया है कि 22 से 24 मार्च तक प्रदेश की सर्राफा दुकानें नहीं खुलेंगी। इसके लिए बिहार भर के दुकानदारों से आग्रह किया गया है कि इसमें समर्थन दें। जनता कफ्र्यू को भी संघ ने पूरा समर्थन दिया है।

31 मार्च तक नहीं चलेंगी सिटी और अंतरराज्यीय बसें

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए परिवहन विभाग ने राजधानी पटना में नगर सेवा की बसों के साथ ही अंतरराज्यीय बसों के परिचालन पर भी रोक लगाने का निर्णय लिया है। शनिवार से सिटी सेवा की बसों का परिचालन बंद कर दिया गया। रविवार से अंतरराज्यीय बसें भी नहीं चलेंगी। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि संभावित संक्रमण को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर 31 मार्च तक सिटी बसों के साथ ही अंतरराज्यीय बसों के परिचालन पर रोक लगाई गई है। इस अवधि में सरकारी एवं प्राइवेट सभी तरह की सिटी बसों एवं अंतरराज्यीय बसों का परिचालन पूरी तरह बंद रहेगा। स्थिति सामान्य होने के बाद ही परिचालन शुरू करने का निर्णय लिया जाएगा। परिवहन सचिव ने बताया कि पटना- दिल्ली-पटना के बीच चलने वाली वोल्वो बसों के परिचालन पर भी 31 मार्च तक के लिए रोक लगाई गई है। दिल्ली के लिए सात बसों का परिचालन किया जा रहा था। 

विशेष ट्रेन से आने वाले प्रत्येक यात्री की जांच होगी

मुम्बई और पुणे से बिहार के लोगों को लेकर आने वाली विशेष ट्रेन के प्रत्येक यात्री की गहन जांच होगी। कोरोना पॉजेटिव पाए जाने पर यात्री पूर्व से बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में  भेजे जाएंगे। जिन यात्रियों में कोरोना के लक्षण नहीं होंगे उन्हें 14 दिन के होम आइसोलेशन में भेजा जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग की जानकारी के अनुसार मुम्बई और पुणे से आने वाली ट्रेन के 22 और 23 मार्च के बिहार की सीमा में प्रवेश की संभावना है। इन दो राज्यों से कोई कोरोना का पाजिटिव केस बिहार में प्रवेश ना कर सके इसके लिए विशेष ट्रेन सिर्फ बक्सर, भोजपुर व दानापुर में ठहरेंगी। जो यात्री बक्सर में उतरेंगे उनके लिए बक्सर, भोजपुर के यात्रियों के लिए आरा जंक्शन और दानापुर के यात्रियों की जांच के लिए दानापुर में व्यवस्था है।

औरंगाबाद के प्रसिद्ध देव चैती छठ मेले पर  रोक

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बचाव को लेकर जिले के प्रसिद्ध देव के चैती छठ मेले पर जिला व पुलिस-प्रशासन ने पूरी तरह रोक लगा दी है। मंदिर न्यास समिति की ओर से ऐतिहासिक सूर्य मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्शन पर भी रोक लगा दी गई है। इसके साथ पवित्र सूर्यकुंड को सील कर दिया गया है। शनिवार को जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल व एसपी दीपक वर्णवाल ने शनिवार को संयुक्त रूप से बताया कि देश में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर देव सूर्य मंदिर न्यास समिति की ओर से मंदिर में दर्शन पर रोक लगा दी गई है। समिति के मंदिर में रोक लगाने के बाद राज्य सरकार के निर्देशानुसार सूर्यकुंड में स्नान पर रोक लगाते हुए उसे सील कर दिया गया है। सभी गेट को बंद कर दिया गया है। सुरक्षाबल तैनात कर दिए गए हैं। 

पटना एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाले 21 विमान रद

रविवार को जनता कर्फ्यू है। इसको लेकर विमान परिचालन भी काफी प्रभावित हुआ है। गो एयर ने तो अपनी घरेलू व विदेशी उड़ानों को पूरी तरह रद कर दिया है। गो एयर की 12 उड़ानें पटना एयरपोर्ट से विभिन्न शहरों के लिए उड़ान भरती हैं जिन्हें पूरी तरह रद कर दिया गया है। इसके साथ ही इंडिगो ने भी अपनी दिल्ली, मुंबई, बेंंगलुरु आदि शहरों को जाने वाली नौ फ्लाइटों का परिचालन रद कर दिया है। इस तरह पटना एयरपोर्ट से 21 विमानों का परिचालन रविवार को ठप रहेगा। 

 कनिका कपूर और हरदीप सिंह पुरी के खिलाफ परिवाद

कोरोना संक्रमण को जान-बूझकर छिपाने के आरोप में मशहूर सिंगर कनिका कपूर के खिलाफ मुजफ्फरपुर की अदालत में परिवाद दाखिल किया गया है। अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने यह परिवाद शनिवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (पश्चिमी) के कोर्ट में दायर किया। सुनवाई के लिए 31 मार्च की तारीख मुकर्रर की गई है। वहीं उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी के खिलाफ भी मुजफ्फरपुर की कोर्ट में परिवाद दायर किया गया है। उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी के खिलाफ मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (पूर्वी) के कोर्ट में शनिवार को परिवाद दाखिल किया गया है। यह परिवाद अहियापुर थाना क्षेत्र के भीखनपुर निवासी सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने दाखिल किया है। इसमें उन पर कोरोना वायरस से बचाव को लेकर देश के एयरपोर्ट पर विदेश से आने वाले यात्रियों की जांच में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया गया है। कोर्ट ने परिवाद की सुनवाई को लेकर 31 मार्च की तारीख मुकर्रर की है। 

विधानसभा सहित कई कार्यालयों और आवासों का सैनिटाइजेशन

कोरोना से बचाव में सभी लोग आ गए हैं। विधानसभा, नूतन राजधानी क्षेत्र के मंत्रियों और विधायकों के आवासीय क्षेत्र को वायरस से मुक्त करने के लिए सैनिटाइज किया गया। पटना हाईकोर्ट में भी सैनिटाइज करने का कार्य चला। छज्जूबाग स्थित जज के आवास, बस और ऑटो को भी सैनिटाइज करने का कार्य चल रहा है। परिवहन विभाग कार्यालय को भी सैनिटाइज किया गया। कई अधिकारियों ने भी अपने आवास को सैनिटाइज कराया। सभी अंचलों में सैनिटाइज टीम गठित की गई है। मच्छरों से राहत दिलाने के लिए सभी अंचलों में फॉगिंग की जा रही है।

पटना के बेउर जेल के कैदी बना रहे मास्क

कोरोना वायरस से बचने के लिए आदर्श केन्द्रीय कारा बेउर के कैदियों ने खुद ही मास्क बनाना शुरू कर दिया है। 24 घंटे में कैदियों ने एक हजार से अधिक मास्क बनाए हैं। मास्क को जेल के ही दूसरे कैदियों के बीच बांट दिया गया। शनिवार से जो भी मास्क बनाए जाएंगे उसमें से आधा बेउर जेल के कैदियों के लिए रखा जाएगा और शेष बचे मास्क को दूसरे जेलों के कैदियों के बीच बांट दिया जाएगा। इस बाबत काराधीक्षक जवाहर लाल प्रभाकर ने बताया कि जेल के कैदियों ने खुद ही अपनी रक्षा के साथ साथी कैदियों की भी कोरोना वायरस से रक्षा करने की ठान ली है। बाजार से बढिय़ा मास्क कैदियों ने बनाए हैं। 

सियासी गलियारे में भी हलचल

बिहार के सियासी गलियारे में भी कोरोना वायरस को लेकर हलचल तेज है। लालू के दोनों लाल ने भी मोर्चा संभाला है। शनिवार को तेजप्रताप यादव ने पटना जंक्‍शन के निकट साबुन, सैनिटाइजर व मास्‍क का वितरण किया। उधर, तेजस्‍वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि जीतेंगे बिहारी और हारेगी बीमारी। सजग रहें व जागरूक रहें। वहीं, कांग्रेस ने भी कोरोना काे लेकर लोगों से परहेज से रहने की अपील की है। साथ ही कहा कि जनता कर्फ्यू पर कांग्रेस सिस्‍टम के साथ है। हमलोग ताली भी बजाएंगे और थाली भी पीटेंगे। भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष संजय जायसवाल व स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने लोगों से जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की अपील की। कहा कि डरें नहीं, कोरोना को हराना है। दूसरी ओर, साबुन व मास्‍क बांटने वाले जाप नेता पप्‍पू यादव ने कहा कि भारत सरकार ने कर्फ्यू को लेकर जो एडवायजरी जारी की है, वह आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा कि भारत में 66 फीसद लोग दिहाड़ी मजदूर हैं, जो रोज कमाते हैं और खाते हैं। लेकिन इस कर्फ्यू में गरीब लोगों को भोजन देने के लिए सरकार के पास कोई योजना नहीं है। सरकार को एक सप्ताह का कोरोना भत्ता देना चाहिए। ताकि लोग अपने घर में रहकर कोरोना से बच सकें। सरकार की जिम्मेदारी है कि वह लोगों को सैनिटाइजर, मास्क मुहैया कराए।

 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस