पटना, जेएनएन। पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र से एनडीए के प्रत्याशी रामकृपाल यादव के पक्ष में मंगलवार को आयोजित सभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। साथ ही इशारों में राजद पर हमला बोला। मुख्यमतमंत्री ने लोगों से अपने संबोधन में कहा कि हम आपसे काम के आधार पर समर्थन माग रहे हैं। केंद्र में नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में सरकार है। उनके नेतृत्व में देश की प्रतिष्ठा पूरी दुनिया में बढ़ी है। आतंकवाद के खिलाफ त्वरित कार्रवाई से देशवासियों का मनोबल बढ़ा है।


पति अंदर गए तो पत्नी को बना दिया मुख्यमंत्री

पूर्व विधायक प्रो. सूर्यदेव त्यागी द्वारा कटाव की बात उठाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में जिस प्रकार की स्थिति आयी आप सब को मालूम है। राजद की ओर इशारा करते हुए नीतीश कुमार ने कहा हमलोगों से पहले एक परिवार का 15 साल तक शासन था। पति अंदर गए तो पत्नी को मुख्यमंत्री बना दिया। वे आज संविधान और आरक्षण की बात कह रहे हैं। जरा उनसे पूछिए 2001 में जब पंचायत का चुनाव हुआ बिहार में किसी को आरक्षण दिया क्या? एससी-एसटी को भी आरक्षण दिया? 24 नवंबर 2005 को हमारी सरकार बनी तो 2006 के पंचायत चुनाव में तीनों वर्गों को आरक्षण दिया।


बिहार पहला राज्य है जहां महिलाओं को पंचायती राज व नगर निकाय में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया। स्कूल अस्पताल, हर घर नल का जल, हर घर शौचालय, सभी जगह विकास हुआ। सभी पंचायतों में उच्च विद्यालय का निर्माण करवा रहे हैं। उन्होंने क्या किया, 15 साल सिर्फ राजपाट। पति-पत्नी के राज में बिजली के तार पर लुंगी-धोती सुखाई जाती थी। अब घर में लालटेन की जरूरत नहीं है, बिजली का बल्ब जल गया है। हम देख रहे हैं कि वे बड़े चिंतित हैं। जेल के अंदर से चिट्ठी लिखी गई है। ठीक है लिखिए, पता चल गया है कि हालत खराब है। उस चिट्ठी को पढि़एगा तो साफ पता चलेगा कि गलती से अगर उनके हाथ में सत्ता आयी तो आपसे बिजली छीन फिर से लालटेन युग में ले जाएंगे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप