पटना, जेएनएन। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी पटना (एनआइटी) में चल रहीं सभी इंजीनियरिंग ब्रांच में 25 फीसद सीटें बढ़ेंगी। आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को 10 फीसद आरक्षण देने के लिए सभी ब्रांच में सीटें बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की 38वीं बैठक में सीटों के बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।

एनआइटी पटना में फिलहाल बीटेक की छह ब्रांच हैं। ये हैं सिविल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, इलेक्टिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी तथा मैकेनिकल इंजीनियरिंग।

डीएन एकेडमिक प्रो. एसके वर्मा ने बताया कि दो फेज में सीटें बढ़ेंगी। इस सत्र में 10 फीसद सीटें बढ़ाई जाएंगी। अगले सत्र में 15 फीसद सीटों में बढ़ोतरी होगी। केंद्र सरकार के निर्णय के अनुसार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के सामान्य छात्रों के लिए 10 फीसद सीटें सुनिश्चित करनी हैं। इसके मद्देनजर सभी आइआइटी व एनआइटी में सीटें बढ़ाई जा रही हैं। बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की बैठक में सीड मनी को पांच लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपये तक कर दिया गया है। यह फंड एनआइटी पटना में रिसर्च को बढ़ावा देने के लिए फैकल्टी को उपलब्ध कराया जाता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस