छपरा, जागरण संवाददाता। Chapra News: छपरा सदर अस्‍पताल से चोरी गए नवजात बच्‍चे को आखिरकार एक निजी नर्सिंग होम से बरामद कर लिया गया है। इस बच्‍चे को जन्‍म के तुरंत बाद ही चोरी कर लिया गया था। बच्‍चा चोरी की घटना को लेकर सदर अस्‍पताल में काफी हंगामा हो चुका है। इस मामले में सिविल सर्जन ने तीन नर्सों को निलंबित भी किया है। वारदात के दिन डीएम ने खुद अस्‍पताल पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली थी। बच्‍चा नहीं मिलने से आक्रोशित स्‍वजन लगातार अस्‍पताल प्रशासन पर दबाव बनाए हुए थे। शायद इसी वजह से रविवार को छपरा सदर अस्‍पताल में प्रदेश के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय का प्रस्‍तावित दौरा रद कर दिया गया था।

ड्यूटी पर मौजूद ममता और सुरक्षा गार्ड को किया जा चुका है निलंबित

छपरा सदर अस्पताल से शनिवार को बच्चा चोरी के बाद सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने जांचोपरांत उस समय एसएनसीयू वार्ड में ड्यूटी पर तैनात तीन जीएनएम नर्स को रविवार की शाम सस्पेंड कर दिया है। वहीं उस समय ड्यूटी पर तैनात ममता और सुरक्षा गार्ड को भी निलंबित कर दिया गया है। सस्पेंड की गईं नर्सों में जीएनएम मुन्ना कुमारी, जुली कुमारी एवं परितोषिका कुमारी शामिल हैं। उक्त तीनों जीएनएम नर्साें के प्रति सिविल सर्जन के द्वारा प्रपत्र-क गठित कर सस्पेंशन के लिए कार्रवाई की गई है। वहीं उस दिन ड्यूटी पर तैनात ममता निर्मला कुमारी एवं सुरक्षा प्रहरी प्रकाश कुमार को कार्य में लापरवाही बरतने का दोषी पाते हुए उनके निलंबन की कार्रवाई की गई है।

सिविल सर्जन डा. झा ने बताया कि विगत शनिवार को उक्त तीनों जीएनएम सुबह 8 बजे से 2 बजे तक एसएनसीयू वार्ड में ड्यूटी पर मौजूद थीं। उस दौरान ममता निर्मला कुमारी एवं सुरक्षा प्रहरी प्रकाश कुमार भी डय़ूटी पर मौजूद थे। उनकी ड्यूटी के दौरान खैरा थाना क्षेत्र के धूप नगर गांव निवासी सुशील कुमार साह एवं रजंती देवी के देवी के नवजात पुत्र की चोरी उनकी ड्यूटी के दौरान हो गई थी। इससे साबित होत है कि उनके द्वारा सरकारी कार्य में रूचि नहीं ली गई। यह सरकारी कार्य में लापरवाही बरतने एवं उनके कर्तव्यहीनता का द्योतक है। जिसको लेकर उनके प्रति कार्रवाई के लिए लिखा गया है।

बताते चलें कि विगत शनिवार की दोपहर 1:35 बजे सदर अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड से एक नवजात की चोरी कर लिया गया था। वहीं उस वार्ड का सीसीटीवी खराब होने के कारण तीस घंटे बीतने के बाद भी बच्चे को बरामद नहीं किया जा सका था। जिसको लेकर बच्चे के स्‍वजनों एवं आक्रोशित लोगों के द्वारा सदर अस्पताल से लेकर सड़क तक प्रदर्शन किया गया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021