पटना, जेएनएन। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में यह नया टर्न है। पटना में दर्ज एफआइआर के आधार पर जांच करने मुंबई गई पटना पुलिस की टीम के खिलाफ मुंबई के बांद्रा थाने में एफआइआर दर्ज करने के लिए ऑनलाइन शिकायत की सोशल मीडिया में चर्चा है। कहा जा रहा है कि मंगलवार को यह शिकायत मुंबई के न्यू पनवेल निवासी अजय सिंह सेंगर ने की है। वे महाराष्ट्र करणी सेना से जुड़े हैं। हालांकि, बिहार के डरजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने एफआइआर की बात को अफवाह बताया है।

पटना पुलिस की टीम के खिलाफ शिकायत

सोशल मीडिया में चर्चा के अनुसार शिकायती पत्र में इंस्पेक्टर कैसर यासीन, मनोरंजन भारती, सब इंस्पेक्टर निशांत और दुर्गेश के नाम बतौर आरोपित दर्ज हैं। आरोप लगाया है कि पटना पुलिस को मुंबई में जांच करने का कोई अधिकार नहीं था। पटना पुलिस को 'जीरो एफआइआर' दर्ज कर केस मुंबई पुलिस को ट्रांसफर कर देना चाहिए था। लेकिन ऐसा नहीं करते हुए मुंबई आकर पटना पुलिस के अफसर खुद जांच करने लगे।

सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप

सोशल मीडिया में चर्चा है कि शिकायतकर्ता ने पटना पुलिस की टीम पर आरोप लगाया है कि उसने सरकारी काम में बाधा डाली। मुंबई पुलिस की छवि को धूमिल किया। इस कारण उन्‍होंने पटना पुलिस की टीम के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।

डीजीपी बोले: अफवाह है

इस चर्चा ने जब तूल पकड़ा, तब बुधवार को बिहार के डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने मुंबई के पुलिस कमिश्‍नर परमवीर सिंह से बात की। इसके बाद डीजीपी ने एफआइआर की बात को अफवाह बताया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस