पटना सिटी। कोरोना संक्रमित को भर्ती कर उनका समुचित इलाज करने तथा देखभाल के साथ भोजन और आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए चौक थाना अंतर्गत कंगन घाट के पर्यटन सुविधा केंद्र में शनिवार को डेडीकेटेड कोरोना हेल्थ सेंटर का उद्घाटन जिलाधिकारी डा. चंद्रशेखर सिंह ने किया। उन्होंने बताया कि पटना शहर के इस तीसरे डीसीएचसी के हाल में 80 बेड लगाए गए हैं। आवश्यकता पड़ने पर बेड की संख्या 200 की जाएगी। इन सभी बेडों पर मरीजों के लिए आक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस केंद्र पर 24 घंटे डाक्टर, नर्स, पारा मेडिकल स्टाफ तैनात किए गए हैं। भर्ती होने वाले मरीजों की जांच, इलाज, उनके भोजन के साथ-साथ बेड पर ही एक्सरे किए जाने की व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है। आवश्यक सभी दवाइयां उपलब्ध हैं। डीसीएचसी में कई कमरे भी हैं। इनमें परिवार के संक्रमित सभी सदस्यों को एक साथ रखा जाएगा। ये केंद्र सिविल सर्जन की निगरानी केयर इंडिया द्वारा संचालित किया जाएगा। जिला अधिकारी ने बताया कि कोरोना संक्रमित वैसे लोग जो खुद को अपने घर में आइसोलेट नहीं कर पा रहे हैं या जिनके घर में अलग से रहने की जगह नहीं है, वैसे संक्रमित व्यक्ति भी इस सेंटर में आकर भर्ती हो सकते हैं। इलाज तथा निर्धारित अवधि पूरी होने के बाद उनकी कोरोना जांच करायी जायेगी। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया जाएगा। इस मौके पर अनुमंडलाधिकारी मुकेश रंजन, सिविल सर्जन डा. विभा कुमारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी प्रमोद कुमार, विवेक कुमार, विवेक कुमार समेत अन्य थे।

पटना के तीन केंद्रों पर 344 बेड लगाए गए, पांच मरीज भर्ती

जिलाधिकारी डा. चंद्रशेखर ने बताया कि शहरी क्षेत्र में डीसीएचसी के तीन सेंटरों में कुल 345 बेड उपलब्ध हैं। इनमें अभी पांच कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती हैं। आवश्यकता पड़ने पर शहरी क्षेत्र में डीसीएचसी केंद्र की संख्या बढ़ायी जा सकती है। पाटलिपुत्र अशोका होटल में 152 बेड, पाटलिपुत्र स्पो‌र्ट्स कंप्लेक्स में 112 बेड और कंगन घाट में 80 बेड हैं।

Edited By: Jagran