पटना [जेएनएन]। बिहार के पू. चंपारण के कोटवा थाना क्षेत्र की एक छात्रा को अगवा कर दस दिनों तक दुष्‍कर्म किया। इसके बाद जहर देकर जान ले ली।

घटना से आक्रोशित लोगों ने शव को एनएच-28 पर रख कर जाम कर दिया। पुलिस पर पैसा लेकर आरोपित को छोडऩे का आरोप लगाया और नारेबाजी की। जाम से एनएच पर गाडिय़ों की लंबी कतार लग गई। पुलिस को आक्रोश झेलना पड़ा। दो घंटे बाद थानाध्यक्ष के आश्वासन पर लोग माने। थानाध्यक्ष ने तीन दिनों में आरोपितों की गिरफ्तारी का भरोसा दिया।

मृत छात्रा के पिता ने बताया कि दस दिन पहले कोटवा चौक स्थित शिवा पान दुकान के मालिक श्याम कुमार ने पुत्री का अपहरण कर लिया। उसे कोलकाता, असम व अन्य जगहों पर घुमाते हुए यौन शोषण किया। फिर जहर देकर बेहोशी की हालत में मठिया नहर में फेंक दिया।

ग्रामीणों की पहचान के बाद उसे बुधवार को मोतिहारी ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने पुलिस अधिकारियों से आरोपित को फांसी की सजा दिलाने की मांग की। थानाध्यक्ष पवन कुमार सिंह ने ग्रामीण और परिजनों को आश्वासन दिया कि तीन दिनों में आरोपित की गिरफ्तारी होगी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021