पटना, आनलाइन डेस्‍क। बिहार सरकार के पूर्व मंत्री मुकेश सहनी (Ex Minister Mukesh Sahani) का कहना है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद (RJD Supremo Lalu Prasad) के ठिकानों पर 17 साल बाद छापेमारी, बस एक साजिश है परेशान करने की। 17 वर्षों बाद छापेमारी का मतलब ही क्‍या है। नीतीश कुमार से तेजस्‍वी यादव (Nitish Kumar and Tejashwi Yadav) की नजदीकी पर भाजपा ने जो चाल चली उसपर नीतीश कुमार जी ने तो नहले पर दहला फेंक ही दिया। बड़ी बैठक कर देश में बड़ा निर्णय लेने की बात कह दी। सहनी ने यह भी कहा कि देशहित में वे लालू जी के साथ मिलकर पीएम का उम्‍मीदवार (PM Candidate) भी बन सकते हैं। भाजपा और नरेंद्र मोदी को हराना कोई बड़ी बात नहीं है। एक मीडिया चैनल से विशेष बातचीत में सहनी ने ये बातें कहीं। 

खुद को तुर्रम खान न समझे भाजपा 

मुकेश सहनी ने कहा कि विशेष राज्‍य का दर्जा, जातीय जनगणना, सामाजिक न्‍याय जैसे मुद्दे पर नीतीश जी बड़ा फैसला ले सकते हैं। वे लालू जी के साथ मिलकर पीएम कैंडीडेट बन सकते हैं क्‍योंकि देश में पीएम के लिए वे सबसे बड़ा चेहरा हैं। यदि वे पीएम कैंडिडेट बनते हैं तो बिहार की सभी 40 सीटें जीत जाएंगे। उन्‍होंने कहा क‍ि भाजपा खुद को तुर्रम खान न समझे। जमीन पर रहे और जनता का काम करे। देश का प्रधानमंत्री बनने के लिए चार-पांच राज्‍यों को ही तो मैनेज करना है। यूपी, बिहार, राजस्‍थान और गुजरात को ठीक करना होगा। महाराष्‍ट्र तो ठीक हो ही गया है। महज 40 परसेंट वोट लाकर वे प्रधानमंत्री बने हैं, 60 परसेंट तो उनके खिलाफ ही हैं। बोचहां में क्‍या हुआ सबने देखा। सारी सरकार को भाजपा ने एक सीट जीतने में लगा दिया। पैसे और पावर की बात तो छोड़‍िए। ले‍किन महज 27 प्र‍तिशत वोट उन्‍हें मिला। इसलिए यह कोई बड़ा चैलेंज नहीं है। 

गलत तो दोनों गठबंधन में हुआ, लेकिन भाजपा ने हक छीना 

सन आफ मल्‍लाह ने कहा कि उनके साथ गलत तो राजद में भी हुआ और एनडीए में भी। हालांकि उस ओर (राजद) तो मेरा जन्‍म भी नहीं हुआ था, यहां तो हमारा हक छीन लिया गया। भाजपा ने हमारे साथ बहुत गलत किया है। नीतीश जी ने मजबूरी में मंत्रिमंडल से हटाया क्‍योंकि उन्‍हें तो सरकार चलानी है। उन्‍होंने तो स्‍पष्‍ट कर दिया कि भाजपा के कहने पर ऐसा किया। बिहार में हमारे समर्थन से सरकार बनी। हमारे जिन विधायकों को छीना गया है वे खुशी से नहीं गए हैं। उन्‍हें लालच दिया गया। डराया-धमकाया गया। हमने गरीबों-पिछड़ों के लिए काम किया तो भाजपा के पेट में दर्द होने लगी। 

नीतीश बनेंगे पीएम कैंडिडेट तो जीतेंगे सभी 40 सीटें 

पूर्व मंत्री ने कहा कि नीतीश कुमार जी पीएम उम्‍मीदवार बनते हैं तो वे उनके साथ रहेंगे। नीतीश जी की जगह कोई और भी बिहारी होगा तो उसका साथ देंगे क्‍योंकि यह बिहार के लिए गौरव की बात होगी। उन्‍होंने कहा कि अभी से विधानसभा और लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। बिहार को 13 जोन में बांटकर कार्यालय बनाया गया है। हर धर्म और समाज के लोगों को साथ लेकर चल रहे हैं। भविष्‍य में समान विचारधारा की पार्टी से गठबंधन हो सकता है लेकिन फिलहाल अकेले लड़ने की तैयारी है। 

Edited By: Vyas Chandra