बीहट (बेगूसराय), संवाद सूत्र। बेगूसराय जिले के बीहट में 30 साल से सड़क से वंचित बड़ी आबादी की मुश्किल कुछ लोगों की सूझबूझ से दूर हो गई। यह कहानी अनोखी तो नहीं लेकिन पूरे राज्‍य के लिए एक सबक जरूर है, जहां थोड़ी-थोड़ी जमीन के लिए लोग हिंसा और हत्‍या तक पर उतारू हो जाते हैं। नगर परिषद बीहट के अंतर्गत वार्ड संख्या 23 स्थित ब्रह्म बाबा स्थान से कब्रिस्तान तक मुख्यमंत्री शहरी गली-नली योजना से इस सड़क का निर्माण किया जाएगा। दरअसल इस सड़क को बनाने के लिए जमीन ही उपलब्‍ध नहीं थी और नगर परिषद के पास जमीन खरीदने लायक फंड भी नहीं था। इसके चलते बड़ी आबादी बरसात के मौसम में मुश्किल का सामना करती थी।

जमीन दान करने वालों का किया गया सम्‍मान

25 लाख रुपये की लागत से 165 मीटर लंबी एवं 12 फीट चौड़ी पीसीसी सड़क एवं नाला का निर्माण कार्य का शिलान्यास भूमि मालकिन मालती देवी, उमा देवी, वीणा कुमारी, भगवती देवी, पूनम देवी, चूना देवी ने विकास की बागडोर अपने हाथों में लेते हुए नारियल फोड़कर शिलान्यास किया। इस कार्य के लिए ग्रामीणों ने शॉल देकर उनका सम्मान किया। विदित हो कि विगत 30 वर्षों से इस सड़क के निर्माण कार्य को लेकर स्थानीय लोगों द्वारा मांग की जाती रही है।

शहर के अलावा बड़ी ग्रामीण आबादी को भी लाभ

सड़क निर्माण के लिए कई बार नगर परिषद बीहट के पूर्व मुख्य पार्षद राजेश कुमार टूना एवं अन्य लोगों के द्वारा प्रयास किया गया। उनके अथक प्रयास से पीसीसी सड़क के निर्माण कार्य का रास्ता साफ हुआ। इससे आसपास के लोगों में हर्ष व्याप्त है। इस सड़क के निर्माण कार्य पूरा होने के बाद वार्ड 21 एवं 23 के अलावा सिमरिया, रूपनगर, गंगाप्रसाद, अमरपुर, जलेलपुर, कसहा सहित अन्य ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के आमजनों को बीहट बाजार और एनएच 31 पर जाने में सुविधा होगी। इस संबंध में पूर्व मुख्य पार्षद राजेश कुमार टूना ने बताया कि जमीन मालिकों के बीच कई दौर की बातचीत के होने के बाद उन्होंने स्वेच्छा से जमीन दान करके अच्छी पहल की है।

ये लोग रहे शिलान्‍यास में मौजूद

इस अवसर पर भूमिदाता जय कुमार, सोगारथ सिंह, नागेश्वर सिंह, अनिल सिंह, संतोष कुमार, बब्बन कुमार, दिलीप कुमार, शिवदानी सिंह, राधा देवी, अनिल सिंह, जवाहरलाल सिंह, अरुण सिंह, सुनील कुमार, सनोज साह, उमेश सिंह को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। मौके पर हीरालाल सिंह, अमीन विजय सिंह, फुलेना सिंह, चंद्रप्रकाश सिंह उर्फ लाल बाबू, प्रमोद सिंह, सीताराम सिंह, भूषण सिंह, संवेदक अमित कुमार बबलू, गोविंद कुमार आदि मौजूद थे।