पटना, जेएनएन। नए मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के पांच माह गुजर गए। बावजूद राजधानी में ऐसे कई वाहन चालक हैं, जो पांच गुना चालान की राशि होने के बाद भी सुधरने का नाम नहीं ले रहे। इस कारण रोजाना राजधानी की सड़कों पर ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करते लोग दिखेंगे।

बाइक से लेकर कार वालों ने भी तोड़ा नियम

हालांकि सितंबर से जनवरी तक ट्रैफिक पुलिस ने 36 हजार 443 वाहन चालकों को पकड़ा। इनसे मौके पर ही 03 करोड़ 70 लाख 59 हजार रुपए का चालान वसूल किया गया। इसमें 998 लोग ऐसे मिले जो जुर्माना की राशि दस गुना बढऩे के बाद भी बिना हेलमेट चल रहे थे। 19 हजार कार चालक और आगे की सीट पर बिना सीट बेल्ट बैठे लोग पकड़े गए। बाकी लोग वाहन के अधूरे पेपर लेकर घर से निकले और उन्हें जुर्माना भरना पड़ा।

पहले महीने में पकड़े गए थे 10 हजार लोग

सितंबर में पटना की ट्रैफिक पुलिस और परिवहन विभाग की टीम मेगा अभियान के साथ सड़क पर उतर गई थी। बिना हेलमेट और बिना सीट बेल्ट के कार चलाने के लिए आदत से मजबूर हो चुके लोगों के तब होश उड़ गए, जब वे इस अभियान में पकड़े गए। नए नियम के तहत उनसे 100 की जगह एक हजार वसूले गए।

सितंबर में 10 हजार 553 लोग बिना हेलमेट और सीट बेल्ट के पकड़े गए

सितंबर में ट्रैफिक पुलिस ने रिकॉर्ड 10 हजार 553 लोगों को बिना हेलमेट और बिना सीट बेल्ट के पकड़ा। इस महीने में साल का सबसे अधिक चालान राशि एक करोड़ 12 लाख रुपये जमा किए गए।

नौ सौ से अधिक के पास नहीं मिले लाइसेंस

नवंबर से जनवरी के बीच नौ सौ से अधिक ऐसे वाहन चालक पकड़े गए जिनके पास वाहन के रजिस्ट्रेशन और प्रदूषण पेपर तो मिले, लेकिन लाइसेंस नहीं मिला। पुलिस ने ऐसे वाहन चालकों का चालान काट दिया। हालांकि नाबालिग के हाथों में स्टेयङ्क्षरग मामले में दो का ही चालान कट सका है।

  

25 हजार जुर्माने के बाद भी पकड़े गए नाबालिग

नाबालिग के हाथ में स्टेयरिंग पर 25 हजार रुपये जुर्माना और अभिभावक पर सजा के प्रावधान लागू होने के बाद भी छह से अधिक ऐसे लोग पहली बार पकड़े जिनसे जुर्माना राशि वसूलकर उनके अभिभावकों को समझाकर छोड़ दिया गया।

कार्रवाई की जद में ऑटो से लेकर बस चालक

ट्रैफिक पुलिस के साथ परिवहन विभाग की टीम भी तीन महीने तक लगातार चार स्थानों पर ऑटो से लेकर बसों के फिटनेस व अन्य कागजातों की जांच की। चालान का डर ऐसा रहा कि कई बस सड़क पर नहीं उतरीं तो कई ऑटो चालकों ने रास्ता बदल दिए, लेकिन अब ऐसा नहीं है।

50 से अधिक बसों का फेल था प्रदूषण

परिवहन विभाग ने 50 से अधिक बस मालिक से प्रदूषण के कागजात नहीं होने तो चालक के पास लाइसेंस नहीं होने का चालान काटा। वहीं तीन सौ से अधिक ऑटो चालक बिना लाइसेंस के मिले। उनका प्रदूषण सर्टिफिकेट भी फेल मिला।

पुराने नियम में पकड़े गए वाहन चालकों का कटा चालान

माह             वाहन                शमन राशि

जनवरी-19      3072                18,95000

फरवरी           2743                17,00100

मार्च             2818                18,32,300

अप्रैल           4189                11,76700

मई              5741                16,71,300

जून             6331                 25,14,300

जुलाई          6687                 34,41,400

अगस्त          8260                 49,09,000

नया एक्ट लागू होने के बाद कटा चालान

माह               वाहन                शमन राशि    

सितंबर             10553             1,12,05800

अक्टूबर            3132                30,68,100

नवंबर              6259                62,88,500

दिसंबर             6704                69,58,400

जनवरी             9797                95,38,600

काफी हद तक हुआ है सुधार

ट्रैफिक एसपी अमरकेश डी कहते हैं, काफी हद लोग अब हेलमेट और सीट बेल्ट लगाने लगे हैं। बावजूद ट्रैफिक पुलिस वाहनों के कागजातों की जांच करती है। ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों को किसी भी हाल में नहीं बख्सा जाएगा।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस