पटना [जेएनएन]। बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र के पांचवें दिन गुरुवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पहली बार पहुंचे। सदन में आरजेडी विधायकों ने उनका मेज थपथपाकर उनका स्वागत किया। विदित हो कि लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की हार के बाद तेजस्‍वी लंबे समय तक सियासत से दूर अज्ञातवास में रहे। मानसून सत्र के दौरान पटना आने के बाद भी वे सत्र में नहीं आ रहे थे। उनकी गैर-मौजूदगी को लेकर सवाल खड़े हो रहे थे। इस बीच विधानमंडल में लगातार पांचवें दिन भी एईएस व सुखाड़ आदि के मुद्दों पर हंगामा होता रहा।
सदन के अंदर-बाहर होता रहा हंगामा
बिहार विधानसभा में राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने सुखाड़ को लेकर कार्य स्‍थगन प्रस्‍ताव लाया, जिसे खारिज कर दिया गया। पार्टी ने इस मुद्दे पर विधानमंडल परिसर में प्रदर्शन भी किया। बिहार में सुखाड़ के हालात के विरोध में भाकपा माले ने भी विधानमंडल परिसर में प्रदर्शन किया। उधर, विधान परिषद में सुखाड़ व एईएस को लेकर हंगामा होता रहा।
सदन के बाहर आरजेडी व भाकपा माले ने एईएस से बच्‍चों की मौत व सुखाड़ के हालात पर प्रदर्शन किया। विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार में किसान सुखाड़ पीड़ित हैं, बच्‍चे मर रहे हैं और सरकार आम बांट रही है। सरकार पहले गरीबों के बच्‍चों का इलाज कराए।
लंबे समय बाद सदन पहुंचे तेजस्‍वी, तेज प्रताप भी आए
गुरुवार को सदन में तेजस्वी यादव अचानक पहुंच गए। सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने के लगभग 45 मिनट के बाद तेजस्वी यादव लगभग 11:45 बजे सदन में पहुंचे। तेजस्वी के सदन में आने के बाद अब उम्मीद है कि आरजेडी सरकार पर ज्यादा हमलावर रहेगा। सदन में आज तेजस्‍वी के अलावा उनके भाई तेज प्रताप यादव भी मौजूद रहे।


 

Posted By: Amit Alok