पटना [जेएनएन]। ओलंपियन एथलीट 'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह ने कहा कि कड़ी मेहनत से कुछ भी संभव है। आप सब बिहार ही नहीं देश का नाम रोशन करें। अगर मुझे प्यार मिला तो सौ साल तक जिंदा रहूंगा। नरेंद्र मोदी 1.30 करोड़ भारतीय का दिल जीतकर प्रधानमंत्री बन गए हैं। यह एक मिसाल है। मैंने भी विश्व रिकॉर्ड बनाने की ठानी थी। मोदी और मिल्खा के जीवन से सबक लो।

मिल्खा ने कहा कि राजनीति में आने के बारे में कभी भी नहीं सोचा, वरना पंडित जवाहर लाल नेहरू के प्रधानमंत्री काल में ही केंद्रीय मंत्री होता। उन्होंने स्वास्थ मंत्री मंगल पांडेय, प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर और जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल से आग्रह किया कि बिहार के युवाओं की प्रतिभा को निखारने के लिए एथलीट, हॉकी, वॉलीबाल सहित विभिन्न खेलों की एकेडमी खोली जाए।

मिल्खा ने कहा कि बिहारीवासी दौड़ें और स्वस्थ रहें। सिर्फ दौडऩे के कारण मैं कभी डॉक्टर के पास नहीं गया हूं। प्रदूषण दौड़ में बाधक नहीं है। दिल्ली में यह चर्चा का विषय गलत तरीके से बना रहता है। घर के अंदर भी प्रदूषण का असर पड़ सकता है।

स्वास्थ मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि मेहनत से कुछ भी पाया जा सकता है। बिहार के युवा मेहनती हैं। मिल्खा सिंह ने 50 वर्षो के बाद बदले बिहार को देखा है। वे देश के विभिन्न हिस्सों में बदलते बिहार का संदेश लेकर जाएंगे।

प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर ने कहा कि आज ऐतिहासिक दिन है। पटना में पहली बार मैराथन का आयोजन हो रहा है। जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि मिल्खा सिंह 90 वर्ष की उम्र में भी जवान हैं। इस अवसर पर पटना मैराथन के इवेंट डायरेक्टर यशवंत गिरी, आदित्य गिरी और रेस डायरेक्टर धर्मेंद्र कुमार आदि मौजूद थे।

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप