पटना, जेएनएन। लोकसभा चुनाव के लिए महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर जिच जारी है।वही  इस माथापच्‍ची के बीच जनअधिकार पार्टी सुप्रीमो पप्पू यादव ने महागठबंधन को लेकर नरमी दिखाई है। उन्होंने कहा है कि मैं महागठबंधन के लिए कुछ भी कर सकता हूं। इसके साथ ही पप्पू ने अपनी सीटिंग सीट, मधेपुरा को लेकर बने असमंजस पर भी सवाल खड़े किए।

पप्पू यादव ने कहा कि मधेपुरा मेरी सीटिंग सीट है और मेरी सीट के साथ ऐसा क्यों किया जा रहा है? मुझे भी पता नहीं चल रहा है कि एेसा क्यों किया जा रहा है? उन्होंने कहा कि जब लालू-नीतीश एक हो सकते हैं तो मेरी तो और किसी से ऐसी कोई लड़ाई नहीं रही है। उन्होंने कहा कि मैं भी यह चाहता हूं कि महागठबंधन मजबूत हो।

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही पप्पू ने कहा था कि मैं मधेपुरा और पूर्णिया दोनों जगह से चुनाव लडूंगा। लेकिन पप्पू की मधेपुरा सीट को लेकर इसलिए भी पेंच फंसा है क्योंकि इस सीट से शरद यादव की उम्मीदवारी के कयास लगाए जा रहे हैं। पप्पू फिलहाल मधेपुरा सीट से ही सांसद हैं।

सांसद पप्पू यादव ने कहा था कि हम मिट जाना पसंद करेंगे लेकिन मधेपुरा सीट को नहीं छोडेंगे। इतना ही नहीं, पप्पू ने लगे हाथों मधेपुरा और पूर्णिया दोनों सीटों पर चुनाव लड़ने की भी घोषणा कर दी थी और कहा था कि हमें कांग्रेस के आखिरी फैसले का इंतजार है।

पप्पू ने कहा था कि अगर हम आरजेडी के लिए जहर हैं तो कांग्रेस केवल नैतिक समर्थन दें हम उसी समर्थन के आधार पर चुनाव लड़ लेंगे। साथ ही उन्होंने कहा था कि मध्य प्रदेश से आकर शरद यादव मेरे घर में मेरी हैसियत दिखा रहे हैं और राजद और उनके स्वयंभू नेता अहंकार पाले बैठे हैं क्योंकि उन्हें 2019 की बजाय 2020 दिखाई दे रहा है।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप