पटना, जेएनएन। राजधानी में मंगलवार को 7 नए पॉजिटिव मामले मिले हैं। पटना में मिले संक्रमितों में चार बख्तियारपुर के हैं। एक छोटी पहाड़ी से है जबकि दो की हिस्ट्री पता की जा रही है। 7 नए पॉजिटिव मिलने के बाद इस जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 261 हो गई है। इनमें 155 लोग ठीक हुए हैं। वहीं पटना जिले के क्वारंटाइन सेंटरों से 957 प्रवासी घर वापस गए। अब तक क्वारंटाइन अवधि पूरा कर 16571 प्रवासियों की घर वापसी हो चुकी है। 24360 प्रवासी क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए थे। 22 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया। जिले में कुल मामले 261 पर पहुंच गए हैं।

बीएमपी जवान के पॉजिटिव होने के बाद भी कंटेनमेंट जोन में प्रतिबंध लगभग खत्म हो गया था। मंगलवार को दैनिक जागरण में खबर छपने के बाद प्रशासन की नींद खुली। इसके बाद कार्यपालक पदाधिकारी मनोज कुमार ने दुबारा जयहिंद कॉलोनी में बैरिकेडिंग कराई। इलाके को सील कर दिया। प्रतिबंधित क्षेत्र का बैनर भी लगा दिया गया है।

एनएमसीएच में भर्ती वृद्ध ने कोरोना को हराया

एनएमसीएच में 19 मई को भर्ती बेगूसराय के खुदामनपुर निवासी 70 वर्षीय राम विलास दास ने कोरोना को हरा दिया है। पूरी तरह से स्वस्थ्य होने के बाद मंगलवार को कोरोना अस्पताल से उन्हें डिस्चार्ज किया गया। रामविलास दास ने कहा कि बिना डरे संक्रमण से लड़े और हराया। कोरोना अस्पताल के नोडल पदाधिकारी डॉ. मुकुल कुमार सिंह कि अस्पताल में पहले से भर्ती आंशकितों में छह की जांच रिपोर्ट मंगलवार को पॉजिटिव आयी है। इनमें एक एनसमीएच का कर्मी और समस्तीपुर का सरकारी अधिकारी शामिल है। वहीं कंकड़बाग के एक संक्रमित को भी भर्ती किया गया है। अब अस्पताल में पॉजिटिव मरीजों की संख्या सात और आशंकितों की संख्या 10 हो गई है। डॉ. मुकुल ने बताया कि जिन संदिग्धों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है उसमें एनएमसीएच के कर्मी के अलावा अगमकुआं स्थित छोटी पहाड़ी निवासी युवक, हाजीपुर का किशोर, राजस्थान का युवक, बक्सर का युवक शामिल है। समस्तीपुर निवासी सरकारी अधिकारी की स्थिति में सुधार नहीं होने पर उन्हें एम्स फुलवारीशरीफ में रेफर किया।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस