पटना, जेएनएन। राजधानी में शनिवार को कोरोना के सात नए मामले सामने आए हैं। इनमें दुल्हिन बाजार के तीन, आलंमगंज के दो और मालसलामी व बख्तियारपुर के निवासी संक्रमित हुए हैं। कोरोना पॉजिटिव में 27 साल की महिला के साथ 68, 64, 45, 48, 26, 21 साल के पुरुष हैं। इसके साथ ही जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 193 हो गई है। बाढ़ के तीनों संक्रमित वंशीधारी उच्च विद्यालय भरतपुरा क्वारंटाइन किए गए थे। तीनों प्रवासी मुुंबई, हावड़ा और जामनगर से लौटे थे।

शुक्रवार को मिले थे आठ

विभिन्न राज्यों से आने वाले लोगों के कोरोना पॉजिटिव मिलने का क्रम शुक्रवार को भी जारी रहा। शुक्रवार को अथमलगोला के सात और धनरुआ के एक युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सभी युवकों की उम्र 18 से 35 के बीच है। वहीं दानापुर सैनिक हॉस्पिटल में भर्ती कोरोना संक्रमित युवती की रिपोर्ट को भी शुक्रवार को शामिल किया गया है। शुक्रवार को 70 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए। अबतक जिले में 3,568 नमूनों को जांच के लिए भेजा गया है। इसमें से 3,115 नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 267  जांचों की रिपोर्ट आनी बाकी है।

सिविल सर्जन डॉ. राजकिशोर चौधरी ने बताया कि अथमलगोला के आठ युवक ट्रक में छिपकर गुजरात के सूरत से आए थे। एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सात अन्य की जांच कराई गई थी। वहीं धनरुआ का युवक 19 मई को केरल के कोयम्बटूर से आया था। सभी क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए थे। वहीं, गुरुवार को दानापुर सैनिक अस्पताल में महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद शुक्रवार को उसके सास-ससुर आदि को क्वारंटाइन किया गया है। वहीं स्वजनों को यह समझ में नहीं आ रहा है कि घर से बाहर नहीं जाने पर भी युवती संक्रमित कैसे हो गई? इस बीच घर बीबीगंज के आसपास का क्षेत्र सील कर दिया गया है। प्रसव के दौरान संक्रमित महिला के संपर्क में आए स्वास्थ्यकॢमयों और डॉक्टरों को भी आगाह किया गया है।

अथमलगोला में संक्रमितों की संख्या हुई 23

अथमलगोला प्रखंड के क्वारंटाइन सेंटर के जिन 45 लोगों का नमूना जांच के लिए भेजा गया था। इनमें से सात की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सभी मामले फुलेलपुर मेउरा पंचायत के दो गांवों के हैं। इन गांवों में पहले भी 16 पॉजिटिव मिल चुके हैं। गत पांच मई को ये आठ लोग 60 अन्य लोगों के साथ सूरत से ट्रक से आए थे।

गांव में नहीं घुसने देने पर धनरुआ के युवक ने खुद कराई जांच

कादिरगंज थाने के पोखर गांव निवासी युवक केरल के कोयम्बटूर से बस से मुजफ्फरपुर आया था। जब वह गांव पहुंचा तो ग्रामीणों ने जांच कराकर आने को कह धनरुआ अस्पताल भेज दिया। वहां उसे क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया। तीन दिन तबियत खराब होने पर उसे एनएमसीएच भेजा गया जहां उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप