पटना, जागरण टीम। Bihar News: बिहार में गंडक (Gandak) व कोसी (Koshi) सहित कई नदियां उफान पर हैं। तटबंध टूट रहे हैं तो सड़क संपर्क भी भंग हो रहे हैं। लगतार नए इलाकों में पानी भर रहा है। शुक्रवार को बाढ़ के पानी में डूबने से 13 लोगों की मौत हो गई। इनमें सुपौल, पूर्णिया और सीतामढ़ी में एक-एक, सहरसा और गोपालगंज में दो- दो, कटिहार और मधुबनी में तीन-तीन लोग शामिल हैं। चंपारण, दरभंगा और गोपालगंज में पांच तटबंधों के टूटने से सैकड़ों गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। इस बीच कोरोना महामारी की रफ्तार भी लगातार कायम है। शुक्रवार को 1820 संक्रमित मिले हैं। राजधानी पटना में कुल 561 नए मामले मिले। कोरोना से शुक्रवार को दो राजनेताओं की मौत हो गई। उधर, पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान में दो दिनों से जारी नर्सों की हड़ताल खत्‍म हो गई है। बिहार में गुरुवार की प्रमुख घटनाओं के ताजा अपडेट यहां देखें।

बिहार में बाढ़ की स्थिति गंभीर, डूबकर 13 की मौत

बिहार में नदियों के उफान पर रहने से बाढ़ की स्थिति भयावह होती जा रही है। हजारों लोगों ने ऊंचे स्थानों पर शरण ली है। शुक्रवार को बाढ़ के पानी में डूबने से 13 लोगों की मौत हो गई। इनमें सुपौल , पूर्णिया और सीतामढ़ी में एक-एक, सहरसा और गोपालगंज में दो- दो, कटिहार और मधुबनी में तीन-तीन लोग शामिल हैं। चंपारण, दरभंगा और गोपालगंज में पांच तटबंधों के टूटने से सैकड़ों गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। उत्तर बिहार के चंपारण में दो और दरभंगा में दो बांधों के टूटने से कई गांवों में पानी फैल गया है। समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड के हायाघाट में मुंडा पुल का पिलर नंबर 16 बागमती के पानी में डूब गया। इस रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बाधित है। पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर 2. 42 लाख क्यूसेक रहा। सेमरा घाट के पास फिर जमींदारी बांध टूट गया। बेतिया- गोपालगंज मार्ग पर यातायात ठप रहा। पूर्वी चंपारण के भवानीपुर ढाला के पास गंडक ने गुरुवार देर रात चंपारण तटबंध को तोड़ दिया। मधुबनी, समस्तीपुर, सीतामढ़ी. शिवहर और मुजफ्फरपुर के बाढ़़ प्रभावित क्षेत्रों बाढ़ से हालात काफी खराब है। दरभंगा के हनुमाननगर प्रखंड के पटोरी गांव में अधवारा का रिंग बांध और बेनीपुर में बागमती का जमींदारी बांध टूट गया है। 

काम पर लौटीं पटना एम्‍स की हड़ताली नर्सें

पटना एम्‍स में कॉन्ट्रैक्ट पर बहाल  लगभग 600 नर्सें समान काम के बदले समान वेतन की मांग को लेकर गुरुवार सुबह से हड़ताल पर चली गईं थीं। वे निदेशक डॉ. प्रभात कुमार सिंह से अपनी मांगों पर पहल की मांग पर अड़ी थीं। आज हड़ताल के दूसरे दिन अस्‍पताल प्रशासन से हुई वार्ता के बाद वे काम पर लौट गईं।

थम नहीं रही कोराना संक्रमण की रफ्तार

बिहार में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम नहीं हो रही है। कुल आंकड़ा 33 हजार के पार चला गया है। शुक्रवार को रिकार्ड 1820 संक्रमित मिले हैं। राज्य में आज कोविड-19 से तीन डॉक्टर समेत नौ लोगों की मौत हो गई। जबकि 24 घंटे में पहली बार सबसे ज्यादा संक्रमित मिले। 22 जुलाई से लेकर 23 जुलाई तक 24 घंटे में 10,456 सैंपल की जांच में 1,820 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। राज्य में अब तक 4.29 लाख से ज्यादा सैंपल की जांच में 33,511 पॉजिटिव मिल चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग ने दावा किया है कि पिछले 24 घंटे में 1,873 संक्रमित स्वस्थ भी हुए। अब तक 22,832 लोग इस महामारी को पराजित करने में सफल रहे हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021