पटना (फुलवारीशरीफ) । रामकृष्ण नगर थाना के बाईपास पहाड़ी मोड़ के पास शुक्रवार की सुबह बाइक सवार अजीत कुमार उर्फ बंटी (25 वर्ष) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। अगमकुआं थाने की पुलिस दुर्घटना में घायल समझ कर उसे अस्पताल ले गई, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने मृतक की बाइक बरामद की, जिस पर शराब लदी थी। उधर अगमकुआं और रामकृष्णानगर थाने की पुलिस शाम तक सीमा विवाद में उलझी रही। हालांकि देर शाम रामकृष्णानगर थाने की पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन में जुट गई।

जांच में पता चला युवक को लगी थी गोलियां

अगमकुंआ थाना क्षेत्र के बड़ी पहाड़ी निवासी अजीत शराब सप्लाई किया करता था। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला कि वह प्रति दिन अहले सुबह बाइक से शराब तय ठिकाने पर पहुंचा देता था। वह पटना गया लाईन में किसी को शराब देता था। शुक्रवार की अहले सुबह भी वह बाइक से शराब की पेटी लेकर ठिकाने पर जा रहा था। जैसे ही वह पहाड़ी मोड़ पर पहुंचा, अपराधी ने उसे घेर लिए। उसे बेहद करीब से पहले पीठ, फिर सिर में गोली मारी गई थी। इसके बाद अपराधी फरार हो गए। वह सड़क किनारे ही बाइक के पास गिरा था। किसी राहगीर ने अगमकुआं थाना पुलिस को सूचना दी कि किसी बाइक सवार की दुर्घटना हो गई है। दुर्घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस घायल अजीत को एनएमसीएच ले गई। जहां उसकी मौत हो गई। जब चिकित्सकों ने जांच किया तब पुलिस को जानकारी हुई कि उसे गोली मारी गई थी।

अजीत के साथ बाइक पर था एक अन्य व्यक्ति

पुलिस जांच शुरू की तो पता चला कि बाइक के पीछे सीट पर शराब की पेटी थी। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि जिस समय अजीत की हत्या हुई उस वक्त उसके पहचान का कोई युवक भी साथ था। वहीं स्वजनों ने पुलिस को बताया कि वह खेती करता था। खेत पर काम करने के लिए वह घर से निकला था।

मुहल्ले की लड़की के साथ किया था प्रेम विवाह

सिटी एसपी जितेन्द्र कुमार के मुताबिक हत्या सुबह के करीब चार और पांच बजे की गई है। घटनास्थल के आसपास के लोगों से भी पूछताछ की गई है। उसने मुहल्ले में ही किसी लड़की के साथ प्रेम विवाह किया था। इस बिंदु पर भी जांच की जा रही है। हत्या किसने की? उसके साथ कौन था? हत्या के पीछे सही वजह क्या रही इन सभी बिन्दुओं की पुलिस जांच कर रही है। पुलिस के सामने बयान देने से बच रहा भाई

पुलिस की मानें तो अजीत जहां पहले शराब की सप्लाई करता था उससे पैसे की लेनदेन को लेकर विवाद हो गया था। इसके बाद वह दूसरे व्यक्ति को शराब देने लगा। पहले वह किसको शराब देता था अब पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। अजीत के भाई सुनील के बयान पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की। लेकिन, भाई ने पुलिस को किसी प्रकार की जानकारी देने से इन्कार कर दिया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस