पटना, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को दिल्‍ली में आयोजित हुनर हाट में एक स्टॉल पर लिट्टी चोखा क्‍या खा लिया, उनके खाने को लेकर अब बिहार में सियासत गरमा गई है और लोग इसे बिहार चुनाव की शुरुआत बताकर तरह-तरह की बातें कर रहे हैं। इसी कड़ी में लालू यादव के दोनों बेटों, तेजस्वी और तेजप्रताप ने पीएम मोदी पर तंज कसा है। इसके अलावा, पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतनराम मांझी ने भी सवाल दागा है। वहीं, भाजपा व जदयू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए विपक्ष पर पलटवार किया है। उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने इसे किसानों-गरीबों का मान बढ़ाने वाला बताया। 

लालू के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्यमंत्री तेज प्रताप यादव ने लिट्टी-चोखा को लेकर पीएम मोदी पर अपने ठेठ अंदाजा में तंज कसा है और ट्वीट किया है-'कतनो खईबऽ लिट्टी चोखा, बिहार ना भुली राउर धोखा..!' 

तेजप्रताप के साथ ही लालू के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट किया है 'आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का धन्यवाद मशहूर बिहारी खाना पसंद करने के लिए। बिहार के मुख्यमंत्री मांग नहीं सकते, इसलिए मैं आपका ध्यान बिहार के हिस्से के लिए जरूरी मुद्दों पर खींचना चाहता हूं- विशेष दर्जा, स्पेशल पैकेज के लिए फंड, बाढ़ राहत कोष और आयुष्मान भारत के लिए फंड।' 

जदयू नेता ने की पीएम मोदी की तारीफ

वहीं, दूसरी ओर जदयू नेता संजय कुमार झा ने ट्वीट कर पीएम मोदी की तारीफ की और कहा कि लिट्टी-चोखा को बिहार के लाखों लोगों के लिए सादगी, विनम्रता और जमीन से जुड़े रहने का प्रतीक बताया है। साथ ही उन्होंने लिखा है, 'नरेंद्र मोदी जी आपको इंडिया गेट के हुनर हाट में लिट्टी-चोखा का आनंद लेते देख बहुत अच्छा लगा। यह हमारी पाक-परंपरा का हिस्सा है और हमारा गौरव।' 

तो वहीं, बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने भी पीएम मोदी (PM Modi) को धन्यवाद दिया और सवाल भी पूछ दिया कि क्या लिट्टी- चोखा खाने को बिहार चुनाव की घोषणा मानी जाए? 

सुशील मोदी ने किया पलटवार 

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि यह सुखद संयोग था कि जिस दिन बिहार सरकार किसानों से पटना में संवाद कर रही थी, किसानों की आमदनी दोगुनी करने के उपायों पर चर्चा कर रही थी और हर हिंदुस्तानी की थाली तक बिहारी व्यंजन पहुंचाने का सपना पूरा करने के लिए कुछ फैसले कर रही थी, उस दिन दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बड़े चाव से प्रसिद्ध बिहारी व्यंजन लिट्टी.चोखा का स्वाद ले रहे थे। सुशील मोदी ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री ने लिट्टी-चोखा और अनरसा खाकर इस व्यंजन का ही नहीं, किसानों और मजदूरों का भी मान बढ़ाया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के लिट्टी-चोखा खाने पर बिहार में कुछ लोगों के पेट में दर्द होने लगा है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस