पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Lalu, Lalu Yadav, Lalu Prasad Yadav, Lalu Prasad Yadav Bail Petition झारखंड के रांची हाईकोर्ट (Ranchi High Court) में शुक्रवार को राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की चारा घोटाला (Fodder Scam) के दुमका कोषागार मामले में सजा के सिलसिले में जमानत अर्जी (Bail Petition) पर अहम सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने मामले में अगली तारीख दे दी। अब इसकी सुनवाई 16 अप्रैल को होगी। लालू के समर्थक हों या विरोधी, उनकी जमानत पर बिहार में सबकी नजरें टिकीं हैं। लालू परिवार, आरजेडी नेताओं व समर्थकों को उनकी जमानत की उम्‍मीद है तो विरोधी नहीं चाहते कि जमानत हो। आज की सुनवाई के पहले पटना स्थित राबड़ी आवास पर सुबह से ही गहमा-गहमी देखी गई।

सीबीआइ ने जमानत का किया विरोध, कोर्ट से मांगा समय

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान जमानत का विरोध करते हुए सीबीआइ ने रांची हाईकोर्ट से एक सप्‍ताह का समय मांगा, लेकिन कोर्ट ने जवाब दाखिल करने के लिए उसे तीन दिनों का समय दिया। साथ ही मामले की अगली सुनवाई की तारीख 16 अप्रैल निर्धारित कर दी।

आधी सजा काट लेने, उम्र व बीमारियों को बनाया आधार

विदित हो कि बीते 19 फरवरी को रांची हाईकोर्ट में लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर बहस करते हुए कांग्रेस नेता और सुप्रीम कोर्ट के वकील कपिल सिब्‍बल ने दो माह बाद की तारीख देने का आग्रह किया था, जिसपर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने जमानत नहीं दी थी। सीबीआइ ने उनकी जमानत का इस आधार पर विरोध किया था कि दुमका कोषागार मामले में लालू की आधी सजा पूरी होने में करीब एक माह 19 दिन शेष हैं। इसके बाद अब लालू जमानत याचिका में नौ अप्रैल को आधी सजा पूरी हो जाने की दलील देते हुए फिर जमानत मांगी गई है। जमानत याचिका में लालू की उम्र व गंभीर बीमारियों का भी हवाला दिया गया है। फिलहाल सजा के दौरान लालू का इलाज दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान में चल रहा है।

चारा घोटाला के चार मामलों में सजा, तीन में मिल चुकी जमानत

लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला के चार मामलों में सजायाफ्ता हैं, जिनमें तीन में उन्‍हें आधी सजा काट लेने के आधार पर जमानत मिल चुकी है। दुमका कोषागार मामले में भी लालू ने यही दलील दी है। इससे पहले बीते 19 फरवरी को हाईकोर्ट ने जमानत देने से इनकार कर दिया था। चारा घोटाला का एक और डोरांडा कोषागार का मामला फिलहाल सुनवाई के स्‍टेज में है।

राबड़ी आवास पर रही गहमागहमी, आरजेडी को गुड न्‍यूज की उम्‍मीद

कानून अपने हिसाब से चलता है और भावनाओं की अपनी गति होती है। कानून के आधार पर कोर्ट फैसला करेगा, लेकिन बिहार में लालू परिवार व आरजेडी नेताओं को अगली सुनवाई में उनकी जमानत की उम्‍मीद है। इसके पहले शुक्रवार की सुनवाई को लेकर पटना स्थित राबड़ी आवास के बाहर समर्थक सुबह से ही जुटने लगे थे। राबड़ी आवास में पार्टी नेताओं का आना-जाना लगा रहा। आरजेडी नेताओं व समर्थकों को उम्‍मीद थी कि आज उनके नेता को जमानत मिल जाएगी। हालांकि, सुनवाई अगली तारीख के लिए टल गई। वैसे, समर्थकों के अनुसार सजा की आधी अवधि पूरी हो जाने के कारण अब जमानत नहीं मिलने का कोई आधार नहीं बचा है। राबड़ी आवास के बाहर मौजूद उनके समर्थकों में शामिल पटना के रंजीत यादव व मुजफ्फरपुर के संजय राय को पूरी उम्‍मीद है कि उनके नेता को अगली तारीख को जमानत मिल ही जाएगी।

यह भी पढ़ें: बिहार की राजनीति से गजब खबर : तेजस्‍वी ने लालू को टॉयलेट में किया था बंद, कुशवाहा ने खोला राज

विरोधी नहीं चाहते लालू आएं जेल से बाहर, कही ये बात

उधर, लालू के विरोधियों को उम्‍मीद है कि जमानत नहीं मिलगी। उनके अनुसार अगर 16 अप्रैल को जमानत मिल भी गई तो चारा घोटाला के चौथे मामले (डोरांडा कोषागार मामला) में वे फिर सजा पाकर जेल में ही रहेंगे।

यह भी पढ़ें: Bengal Election: ममता ने बिहारियों को कहा गुंडा तो तेजस्वी चुप, राजनीति गरमाई तो लालू भी आए याद

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021