पटना, राज्य ब्यूरो। प्रदेश की राजनीति में जदयू के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के करीबी माने जाने वाले उपेंद्र कुशवाहा के भाजपा में शामिल होने की चर्चा जोरों पर है। इसी अटकलों के बीच बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि जदयू (JDU) ने उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) को बहुत सम्मान दिया है। उनकी बातों को पार्टी के अंदर काफी महत्व दिया जाता है। मांझी ने कहा कि इसके बाद भी यदि वे (उपेंद्र कुशवाहा) जदयू छोड़ भाजपा (BJP) में जाएंगे तो उनका यह एक गलत फैसला होगा। भाजपा में जाने से उन्हें कोई फायदा नहीं मिलने वाला है।

जीतन राम मांझी ने कहा बिहार में चाहे कुछ भी हो, उनकी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा पार्टी हमेशा से नीतीश कुमार के साथ खड़ी रही और आगे भी खड़ी रहेगी। मांझी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जहां-जहां जाएंगे, पीछे-पीछे मेरी पार्टी भी जाएगी। मांझी ने कहा वे मुख्यमंत्री से भी मिलेंगे और अपनी पार्टी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उन्हें भाग लेने का निमंत्रण देंगे।

नीतीश कुमार की कुशवाहा को खरी-खरी

उल्लेखनीय है कि उपेंद्र कुशवाहा इन दिनों बगावती तेवर में हैं। उन्होंने बिहार में नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जदयू के लगातार कमजोर होने की बात कही थी। इसपर बुधवार को सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि किसी के कहने से जदयू पार्टी कमजोर नहीं होगी। सीएम ने कहा कि महागठबंधन को लेकर बहुत कुछ कहा जा रहा है। किसी के कहने और जाने से विकास रुकेगा नहीं। कोई कहीं भी जाने के लिए स्वतंत्र हैं।

उपेंद्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश से मांगा अपना हिस्सा

मुख्यमंत्री पर पलटवार करते हुए उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि बड़े भाई के कहने से छोटा भाई घर छोड़कर जाने लगे तब तो हर बड़का भाई अपने छोटका को घर से भगाकर बाप-दादा की पूरी संपत्ति अकेले हड़प ले। ऐसे कैसे चले जाएं अपना हिस्सा छोड़कर....?

उपेंद्र कुशवाहा की नीतीश को चुनौती, बोले- बड़ा अच्छा कहा भाई साहब, ऐसे कैसे चले जाएं अपना हिस्सा छोड़कर?

'मैंने किसी को नहीं रोका है, नेता अपनी इच्छा से पार्टी में आते-जाते हैं' उपेंद्र को नीतीश की खरी-खरी

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट