जासं, आरा: भोजपुर जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र अंतर्गत आरा-सलेमपुर पथ पर बखरियां गांव के समीप मंगलवार की दोपहर बाइक सवार हथियारबंद बदमाशों ने आटो सवार एक बुजुर्ग महिला की गोली मारकर हत्या कर दी।  वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश आराम से भाग निकले। अपराधी दो की संख्या में थे। दो एक बाइक से थे। मृतका 60 वर्षीय कलावती देवी कोईलवर थाना क्षेत्र के बिंदगांवां गांव निवासी स्व.भुवनेश्वर सिंह की पत्नी थी। वर्तमान में परिवार झारखंड के छोटा गोविंदपुर, एलआइजी हाउसिग कालोनी, जमशेदपुर में रहता है।

मृतका को सिर के पिछले हिस्से में गोली लगी है। पुलिस रोडरेज एवं आपसी रंजिश के बिंदु पर जांच-पड़ताल कर रही है। बताया जाता है कि बुजुर्ग महिला अपने पुत्र भीम प्रताप सिंह, पोती खुशी एवं श्रुती कुमारी के साथ गोविंदपुर, जमशेदपुर  से आरा के लिए चली थी। मंगलवार की दोपहर आरा स्टेशन पर  उतरे। इसके बाद आरा रेलवे स्टेशन से  आटो रिजर्व कर आरा मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बेलघाट-बलुआं गांव अपनी बेटी आशा देवी के घर जा रही थी। इस बीच आरा-सलेमपुर पथ पर बखरिया गांव के समीप आटो ने एक बाइक सवार को ओवरटेक किया। इसके बाद फिर बाइक सवार ने आटो को ओवरटेक किया। इस बीच बाइक सवार हथियारबंद बदमाशों ने पीछे से बुजुर्ग महिला को गोली मार दी। जिससे वह घायल हो गई। इसके बाद उन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया जा रहा था, तभी उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। इधर, सूचना मिलते ही मुफस्सिल थानाध्यक्ष अनिल कुमार व दारोगा मनिंदर कुमार अपने दलबल के साथ  मौका-ए-वारदात पर पहुंच गए। इसके बाद पूछताछ कर हत्या की जानकारी ली। पुलिस इंस्पेक्टर के अनुसार अभी जांच चल रही है। 

अचानक गोली चली तो लगा कि टायर फटा

मुफस्सिल थाना क्षेत्र अन्तर्गत आरा-सलेमपुर पथ पर बखरियां गांव के समीप मंगलवार की दोपहर करीब एक बजे आटो में सवार बुजुर्ग महिला कलावती देवी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या किए जाने की घटना में पुलिस स्वजनों से पूछताछ कर क्लू पाने के प्रयास में लगी हुई है। शुरुआती पूछताछ में मृतका के बेटे भीम प्रताप सिंह ने पुलिस को बताया कि वह आटो के आगे  बैठा था। पीछे उसकी मां कलावती देवी, पुत्री खुशी उर्फ मुस्कान एवं भतीजी श्रुती कुमारी बैठी हुई थी। अचानक जोरदार आवाज सुनाई दी। उसे लगा कि टायर फटा है। फिर पीछे मुड़कर देखा तो पाया कि उसकी बुजुर्ग मां घायल हालत में पड़ी है। पीछे जाकर देखा तो सिर से खून निकल रहा था। इसके बाद उसे गोली लगने का आभास हुआ। वह उसी आटो से मां को लेकर आ रहा था कि रास्ते में मौत हो गई। डाक्टर मां को देखने के बाद मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर इंस्पेक्टर अनिल कुमार एवं दारोगा मनिन्द्र कुमार सदर अस्पताल पहुंच गए। हालांकि, तब तक चालक आटो लेकर जा चुका था। बेटे के अनुसार बाइक से ओवरटेक के कारण बदमाशों ने गोली चलाई। जिसमें उसकी मां की जान चली गई।

Edited By: Akshay Pandey