पटना [जेएनएन]। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के करीबी माने जाने वाले जनता दल यूनाइटेड (JDU) के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के 'हाउडी मोदी' (Howdy Modi) कार्यक्रम को ले बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने अपने ट्वीट में इसे चुनाव की दृष्टि से कमजोर पड़ते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को चुनावी लाभ दिलाने वाला कदम बताया। इसपर भड़की भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने उन्‍हें औकात में रहने की नसीहत दे डाली। 

विदित हो कि संयुक्‍त राष्‍ट्र अमेरिका (USA) स्थित टेक्सास (Texas) के ह्यूस्टन (Houston) में रविवार को ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) भी थे। भारत की बात करें तो केंद्र सरकार व नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के समर्थक इस कार्यक्रम को ऐतिहसिक बता रहे हैं तो विपक्ष सरकार को आड़े हाथों ले रहा है। अमेरिका में अगले साल राष्ट्रपति का चुनाव होगा। टेक्सास राज्य में रिपब्लिकन पार्टी कमजोर मानी जा रही है। वहां भारतीय-अमेरिकियों (Indo-Americans) की संख्या अधिक है। वे प्रभावी भी हैं। विपक्ष डोनाल्ड ट्रंप के हाउडी मोदी कार्यक्रम में शामिल होने को इसी से जोड़ रहा है। प्रशांत किशोर का बयान भी इसी से संबंधित है।

प्रशांत किशोर ने ट्वीट में लिखी ये बात

हाउडी मोदी’ कार्यक्रम को लेकर प्रशांत किशोर ने अपने ट्वीट में लिखा है कि यह भारतीय प्रधानमंत्री का  रणनीतिक और स्मार्ट कदम था, जिससे चुनाव की दृष्टि से कमजोर पड़ते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को आगामी चुनाव में लाभ मिलेगा। इतनी बड़ी संख्‍या में लोगों की भीड़ पहले कभी नहीं देखी गई और लोकतंत्र में यह मायने रखने वाली बात है।

बीजेपी बोली: पीएम के प्रति ऐसी भाषा अनुचित

प्रशांत किशोर के बयान पर बीजेपी नेता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि जेडीयू छोटी पार्टी है, जिसके उपाध्‍यक्ष हैं प्रशांत किशोर। नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं। वे अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप के सथ जाते हैं। प्रशांत किशोर को मोदी के बारे में कोई बयान देने के पहले अपनी औकात देखनी चाहिए। प्रधानमंत्री के प्रति ऐसी भाषा का प्रयोग अनुचित है।

कांग्रेस ने बताया विदेश नीति का उल्‍लंघन

उधर, विपक्ष ने भी प्रधानमंत्री के इस कदम की आलोचना की है। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने नरेंद्र मोदी के डोनाल्ड ट्रंप के साथ मंच साझा करने को विदेश नीति का उल्लंघन बताया है। उन्‍होंने आपत्ति दर्जकरते हुए कहा है कि भारत के प्रधानमंत्री को इस तरह से किसी दूसरे देश की चुनाव प्रक्रिया में हस्तक्षेप करना गलत था।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप