पटना [जेएनएन]। बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) पर जेडीयू नेता व मंत्री नीरज कुमार (Niraj Kumar) ने जमकर हमला बोला है। बकौल नीरज, अनंत सिंह राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के 'पोसुआ' (Pet) तथा उनके बेटे तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) की राजनीति के 'आइटम ब्‍वॉय' (Item Boy) हैं। नीरज कुमार आइपीएस लिपि सिंह (Lipi Singh) द्वारा अनंत सिंह मामले में दिल्‍ली के साकेत कोर्ट (Saket Court) में जाने के लिए जेडीयू सांसद के स्‍टीकर वाली गाड़ी के उपयोग पर तेजस्‍वी के हमले पर प्रतिक्रिया दे रहे थे।
क्‍या है मामला, जानिए
विदित हो कि अनंत सिंह अपने पैतृक आवास से एके 47 (AK 47) व हैंड ग्रेनेड (Hand Granade) बरामदी के मामले में फरार चल रहे थे। इस दौरान तीन वीडियो जारी कर उन्‍होंने कहा था कि वे पुलिस नहीं, कोर्ट के समक्ष सरेंडर करेंगे। उन्‍होंने पुलिस पर जेडीयू के साथ मिलकर साजिश करने का भी आरोप लगाया था। इसके बाद जब अनंत सिंह ने शुक्रवार को दिल्‍ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर किया तो अगले दिन उनकी पेशी के दौरान बाढ़ (पटना) की एएसपी लिपि सिंह वहां उपस्थित रहीं। उनके जेडीयू सांसद के स्‍टीकर वाली गाड़ी से कोर्ट जाने पर विपक्ष हमलावर हो गया है।

तेजस्‍वी ने कही ये बात
तेजस्‍वी ने कहा कि अब तो एमपी (MP) के स्‍टीकर तक का गलत इस्‍तेमाल हो रहा है। यह बिहार सरकार में 'आरसीपी टैक्स' का उदाहरण है। जेडीयू नेता 'आरसीपी टैक्स' देकर विधान पार्षद (MLC) बनते हैं या अन्‍य बड़े पद प्राप्‍त करते हैं। लिपी सिंह ने साकेत कोर्ट में जाने के लिए एमपी के स्‍टीकर वाली जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया, वह किसी विधान पार्षद की है। उसपर एमपी का स्‍टीकर क्‍यों लगा था और उस गाड़ी का इस्तेमाल कौन करता है, यह जांच का विषय है। आरसीपी सिंह (RCP Singh) के खिलाफ भ्रष्टाचार को लेकर जांच होनी चाहिए। उनकी बेटी ने पुलिस ड्यूटी के दौरान एमपी की गाड़ी का उपयोग क्‍यों किया, नीतीश कुमार (Nitish Kumar) व सुशील मोदी (Sushil Kumar Modi) को इसका भी जवाब देना चाहिए।

डॉ. सीपी सिंह बोले: पहले जेडीयू के साथ थे अनंत
विपक्ष के हमले के साथ इस मसले पर सत्‍ताधारी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में जेडीयू की साझीदार भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता व पूर्व मंत्री डॉ. सीपी सिंह (Dr. CP Singh) ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने सधे लहजे में कहा कि अनंत सिंह पर कानून के अनुसार कार्रवाई होनी चाहिए। लेकिन साथ में यह भी कहा कि वे तो पहले जेडीयू के ही साथ थे।
नीरज ने दी प्रतिक्रिया
विपक्ष के हमले पर जेडीयू की तरफ से मंत्री नीरज कुमार ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने कहा कि यह इस मामले में विपक्ष की मीडिया ट्रायल (Media Trial) की कोशिश मात्र है। कोई आइपीएस अधिकारी अपने पिता की गाड़ी का उपयोग करे तो इसमें क्‍या अपराध है? कहां लिखा है कि ऐसा नहीं किया जा सकता?
नीरज कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार की सुशासन की सरकार न किसी को बचाती है, न फंसाती है। इस सरकार ने राजबल्‍लभ यादव को बचाया, न अशोक महतो या शहाबुद्दीन को। इस सरकार ने अनंत सिंह को भी न फंसाया है, न बचाएगी।
अनंत सिंह के सरकार पर फंसाने के आरोप पर नीरज ने कहा कि उन्‍हें तो फंसाना लिखना तक नहीं आता, वे क्‍या बोलेंगे। राजबल्‍लभ से लेकर शहाबुद्दीन तक सभी ने खुद को फंसाने के आरोप लगाएथे। यही अनंत सिंह भी कर रहे हैं। ये लाेग तो लालू प्रसाद यादव के पोसुआ और तेजस्‍वी यादव की राजनीति के आइटम ब्‍वॉय हैं। संगीन मामलों में राजनीति का एजेंडा तय नहीं करना चाहिए।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप