पटना, राज्य ब्यूरो। आम बजट के पूर्व बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने को ले लगातार अपनी बात कह रहे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने शुक्रवार को पुन: इस बाबत ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि रघुराम राजन कमेटी और हाल ही में नीति आयोग की रिपोर्ट स्पष्ट है। केंद्र सरकार द्वारा बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने को ले पर्याप्त प्रमाण भी हैं। नियमों में यदि कोई सुधार आवश्यक है तो बिहार और देश ने सरकार को अप्रतिम बहुमत दिए हैं। ललन सिंह ने अपने ट्वीट में एक वीडियो को भी टैग किया है जिसमें नीति आयोग की हालिया रिपोर्ट का जिक्र है। यह भी बताया गया है कि प्रति वर्ष आने वाली आपदा से बिहार को कितने बड़े स्तर पर नुकसान हो रहा है। गाडगिल-मुखर्जी फार्मूले का भी जिक्र है। 

विशेष राज्‍य का दर्जा मिलने से बढ़ेगी विकास की गति 

देश के प्रधान बिहार पर दें ध्‍यान हैशटैग से ट्व‍िटर पर अभियान चलाने वाले ललन सिंह ने शनिवार को एक ट्वीट किया। इसमें लिखा है कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के कुशल नेतृत्‍व में बिहार ने अभूतपूर्व विकास करके दिखाया है। विशेष राज्‍य का दर्जा मिलने से केंद्रीय सहयोग मिलेगा तो विकास की गति और बढ़ेगी।  राज्‍य का पिछड़ापन शीघ्र दूर होगा। ट्रांसफार्म इंडिया भी होगा।  

विशेष राज्‍य के मुद्दे पर ठनी है भाजपा और जदयू में 

गौरतलब है कि जदयू की ओर से विशेष राज्‍य का मामला जोर-शोर से उठाया जा रहा है। जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ललन सिंह इस मामले को लेकर मुखर हैं। उधर भाजपा के कई नेताओं ने बयान देकर कहा है कि अब जो प्रविधान हो गए हैं, उसमें विशेष राज्‍य का दर्जा मिलना संभव नहीं है। बीते दिनों भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष डा. संजय जायसवाल ने कहा था कि जो राज्‍य इस मांग के पक्षधर हैं, उनके सीएम को साथ लेकर चलें जदयू के अध्‍यक्ष तो वे भी समर्थन को तैयार हैं। इसके बाद ललन सिंह ने कहा था कि वे भाजपा से नहीं देश के प्रधानमंत्री से विशेष राज्‍य का दर्जा मांग रहे हैं।     

Edited By: Vyas Chandra