पटना, जेएनएन। भाजपा के फायरब्रांड नेता् गिरिराज सिंह ने फिर से एक बार विवादित बयान दिया है जिसपर एनडीए के घटक दल जदयू ने भी आपत्ति जतायी है। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने गिरिराज के बयान पर कहा है कि इसपर चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए। वहीं लोजपा नेता चिराग पासवान ने भी कहा है कि हम उनकी भाषा का समर्थन नहीं करते हैं।

गिरिराज के बयान पर जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि ऐसे बयान देने वालों की उम्मीदवारी निरस्त कर दी जानी चाहिए, लेकिन चुनाव आयोग के दांत खाने के और हैं, दिखाने के कुछ और। एेसे बयान पर चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए।

जानिए क्या कहा था गिरिराज ने 

बेगूसराय सीट से लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा उम्मीदवार गिरिराज सिंह ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। बुधवार को बेगूसराय के जीडी कॉलेज परिसर में आयोजित चुनावी सभा में बुधवार को उन्होंने कहा कि राजद के दरभंगा से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार कहते हैं कि वे वंदेमातरम नहीं बोलेंगे। जबकि उन्हें कब्र के लिए भी तीन हाथ जमीन चाहिए। उन्होंने साफ कहा कि अगर कब्र के लिए तीन हाथ जमीन चाहिए, तो मुस्लिमों को वंदेमातरम कहना होगा।

गिरिराज ने जब ये कहा था तो उस समय मंच पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी समेत अन्य नेता भी मौजूद थे। संबोधन के दौरान गिरिराज सिंह ने कहा कि हमारे पूर्वजों को यहीं सिमरिया घाट में जलाया गया था। उनके लिए अलग से जमीन की जरूरत नहीं थी। परंतु उनलोगों के कब्र के लिए भी तीन हाथ जमीन चाहिए।

बता दें कि गिरिराज सिंह का यह कोई पहला विवादित बयान नहीं है। 23 अप्रैल को भी बीहट में आयोजित चुनाव प्रचार के दौरान भारतीय मजदूर संघ कार्यालय में आयोजित बैठक में भी उन्होंने ऐसा ही विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि जिसे भारत में रहना है, उसे वंदेमातरम कहना होगा।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप