पटना [जेएनएन]। रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को लेकर जदयू ने बड़ा बयान दिया है। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा है कि एनडीए से जाने वाले को कौन रोक सकता है? कोई आए या जाए, इससे हमारी पार्टी या नीतीश कुमार की सेहत पर कोई असर होने वाला नहीं है। उपेंद्र कुशवाहा के अभियान से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है, एनडीए एकजुट है।
इसके साथ ही जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के विधायकों और एक सांसद के जेडीयू में शामिल होने की अटकलों को भी हवा दे दी है। उन्होंने कहा कि अगर कोई जदयू की नीतियों के आधार पर आना चाहे तो पार्टी में उनका स्वागत है। उन्होंने कहा कि राजनीति में हर व्यक्ति एक दूसरे के संपर्क में रहता है इसलिए किसी भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।
रालोसपा नेताओं ने दिया करारा जवाब
वशिष्ठ नारायण सिंह के इस बयान पर रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप मिश्र ने कहा कि उनकी पार्टी वशिष्ठ नारायण सिंह की बातों को गंभीरता से नहीं लेती है। उन्होंने कहा कि उनकी बात बीजेपी से हो रही है क्योंकि रालोसपा का गठबंधन बीजेपी से ही है। उन्होंने ये भी दावा किया कि मामले को खत्म करने के लिए जरूरत हुई तो पार्टी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी बात करेगी।
वहीं, रालोसपा के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने उनकी पार्टी को तोड़ने की साजिश करने का आरोप लगाया है और कहा है कि नीतीश कुमार का रबर स्टाम्प बताया और दावा किया कि अगले कल तक बिहार में बड़ा धमाका होने वाला है।
नागमणि ने कहा कि बीजेपी की साख पूरे देश में गिर रही है इसलिए वह हमारी जान छोड़ दे तो बेहतर रहेगा।उन्होंने कहा कि हमने बीजेपी को अंतिम अल्टीमेटम दे दिया है। उन्होंने कहा कि हम जिधर भी जाएंगे वह गठबंधन मजबूत होगा।
भाजपा ने किया किनारा
हालांकि, वशिष्ठ नारायण सिंह के बयान से बीजेपी ने किनारा कर लिया है। पार्टी के नेता संजय टाइगर ने कहा है है कि उपेन्द्र कुशवाहा एनडीए का अहम हिस्सा हैं और हमलोग बड़ा लक्ष्य लेकर चल रहे हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि कुशवाहा बीजेपी के साथ ही रहेंगे।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस