राज्य ब्यूरो, पटना : जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने आरोप लगाया है बिहार सरकार बीपीएससी 67वीं के पेपर लीक होने के मामले में आइएएस अधिकारी रंजीत कुमार सिंह को बचा रही है। पूर्व सांसद ने कहा कि जांच एजेंसी छोटे-छोटे कर्मचारियों को पकड़कर मामले पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है। पप्पू यादव ने सरकार से बीपीएससी पेपर लीक मामले में सीबीआइ जांच की मांग की है। वे शनिवार को पटना में प्रेस से बात कर रहे थे। पप्पू ने कहा कि जाप छात्र परिषद और युवा परिषद बीपीएससी का घेराव करेगी। हमारी मांग है कि सरकार इस घोटाले के खिलाफ सीबीआइ जांच कराए। पप्पू यादव ने मामले को लेकर हाई कोर्ट जाने की भी चेतावनी दी।

जन अधिकार पार्टी अध्यक्ष पप्पू यादव ने शनिवार को मीडिया को बताया कि आगामी पांच जून को पार्टी की राष्ट्रीय कोर कमिटी की बैठक होगी। एक जुलाई को बाल्मीकि नगर में चिंतन शिविर और 15 अगस्त को बिहार बचाओ रोजगार यात्रा निकाली जाएगी। पप्पू यादव ने पेपर लीक में आइएएस रंजीत कुमार सिंह और उनकी कोचिंग की भूमिका पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि रंजीत ने अपने गुनाहों को छिपाने के लिए बीपीएससी की तैयारी पर दर्जनों किताबें लिखी हैं। मार्च महीने में रंजीत ने अपनी पुस्तकों का विमोचन पटना के एक निजी होटल में कराया था, जिसमें शहर के सभी कोचिंग संस्थान के लोग मौजूद थे। पप्पू ने कहा कि इन जैसे अधिकारियों की वजह से बिहार के युवाओं का करियर बर्बाद हो रहा है। पप्पू ने कहा कि बिहार के नौजवानों के अंदर गुस्सा है। इसको लेकर जाप छात्र परिषद और युवा परिषद बीपीएससी का घेराव करेगी। हमारी मांग है कि सरकार इस घोटाले के खिलाफ सीबीआई जांच कराए। पार्टी इस घोटाले के खिलाफ हाईकोर्ट जाएगी। प्रेस कांफ्रेंस में राघवेन्द्र कुशवाहा, राजेश रंजन पप्पू, गौतम आनन्द सहित कई लोग उपस्थित रहे।

Edited By: Akshay Pandey