पटना/ सहरसा, जागरण टीम। CoronaVirus: बिहार के सहरसा सदर अस्‍पताल (Saharsa Sadar Hospital) स्थित आइसोलेशन सेंटर (Isolation Center) में तब्‍लीगी जमात (Tablighi Jamaat) के लोगों ने एक नर्सों (Nurses) के साथ अभद्रता (Misbehave) की तथा उसकी तस्‍वीरें खींचीं। फिर, सोशल मीडिया (Social Media) में वायरल (Viral) करने की धमकी दी। घटना की जानकारी के बाद जब पुलिस (Police) ने हड़काया तब जाकर उनके होश ठिकाने आए। इसके बाद दो दिनों तक वे ठीक से रहे। बुधवार को रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्‍हें आइसोलेशन सेंटर से छोड़ भी दिया गया।

अस्‍पताल में नर्स से किया अभद्र व्‍यवहार

मिली जानकारी के अनुसार सहरसा सदर अस्‍पताल के आइसोलेशन सेंटर में तब्‍लीगी जमात के तीन कोरोना संक्रमण के संदिग्धों को भर्ती कराया गया था। इस दौरान उन्‍होंने ड्यूटी पर तैनात एक नर्स (GNM) के साथ अभद्रता की तथा उसकी तस्वीरें खींचकर सोशल मीडिया में वायरल करने की धमकी भी दे डाली। बताया जाता है कि अस्‍पताल में अभद्रता का यह सिलसिला एक घंटे से अधिक चला। इस दौरान अस्पताल प्रबंधन (Hospital Administration) ने उन्‍हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने।

अस्‍पताल प्रबंधन ने प्रशासन को दी सूचना

मामला कोरोना व तब्‍लीगी जमात से जुड़ा होनें के कारण अस्‍पताल प्रबंधन ने जिला प्रशासन को इसकी जानकारी दी। इसके बाद सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी व सदर थानाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह जांच के लिए अस्पताल पहुंचे। ड्यूटी पर तैनात नर्सों ने पुलिस अधिकारियों को घटना की जानकारी दी।

पुलिस ने की जांच, आरोपितों को हड़काया

इसके बाद पुलिस ने आइसोलेशन वार्ड से आरोपितों के मोबाइल जब्त कर लिए तथा दोबारा ऐसा करने पर घर के बदले जेल भेजने की धमकी दी। इसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया है।

तीनों अस्‍पताल से डिस्चार्ज, भेजे गए घर

अस्पताल प्रबंधक अमित कुमार चंचल ने कहा कि आइसोलेशन सेंटर में भर्ती जमातियों के खिलाफ नर्सों ने अभद्रता की शिकायत की थी। मामले की जांच पुलिस ने की। उन्‍होंने बताया कि तीनों आरोपितों को कोरोना जांच की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद बुधवार को डिस्चार्ज कर दिया गया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस