पटना(बिक्रम)। एनएच 98 पर बिक्रम से नौबतपुर और बिहटा रोड में ट्रकों के बेतरतीब ठहराव से इन क्षेत्रों में वाहनों का परिचालन थम गया है। महाजाम से लोग त्राहिमाम कर रहे हैं। आवागमन को दुरुस्त करने में स्थानीय पुलिस-प्रशासन के हाथ-पांव फूल रहे हैं। लोगों का कहना है कि जाम में एंबुलेंस और स्कूल बसें भी घटों फंसी रहती हैं। स्थानीय लोगों ने इसके त्वरित समाधान की माग की है।

उल्लेखनीय है कि बालू घाट खुले होने से बड़े पैमाने पर बालू का उठान हो रहा है। यहां दिन रात हजारों गाड़ियों की लाइन लगी रहती है। पटना में नो एंट्री होने के कारण सारी बड़ी गाड़ियां इसी रास्ते में लगी रहती हैं। गाड़ियों के बेतरतीब ढंग से खड़ी होने के कारण बाइक निकालना भी मुश्किल हो गया है। संवाद सूत्र, मनेर : जेपी सेतु से बालू लदे वाहनों व ट्रकों को रास्ता दिए जाने से पिछले 10 दिनों से मनेर-दानापुर राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर रुक-रुककर जाम लग रहा है। इससे आक्रोशित लोगों ने गोरैया स्थान के पास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंक कर विरोध जताया है। सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई। विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों ने कहा कि दानापुर में ट्रकों की नो एंट्री के कारण मनेर की सड़क पर सुबह से लेकर रात तक जाम लगा रहता है। जाम के कारण लोग ट्रेन से यात्रा कर रहे हैं। जाम से निजात दिलाने के लिए पुलिस कहीं दूर-दूर तक दिख नहीं रही है। इस मौके पर अधिवक्ता विजय कुमार सिंह, चौ. ब्रह्मप्रकाश, संतोष कुमार, विनोद कुमार, रोहित शेट्टी, भूपति सिंह, मुनेश्वर साव व तिलक यादव आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस