पटना । निगम पार्षद को चोर कहने तथा पार्षदों से अमर्यादित भाषा में बात करने वाले अधिकारियों के खिलाफ अब तक कार्रवाई नहीं होने से वार्ड पार्षदों में आक्रोश है। पटना नगर निगम की पिछली बैठक में कंकड़बाग अंचल के नगर प्रबंधक अरविंद कुमार व विद्युत प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता सत्येंद्र कुमार को निलंबित करने का प्रस्ताव पारित किया गया था। लेकिन दोनों के खिलाफ अब तक कार्रवाई नहीं होने से पार्षदों में आक्रोश है। सभी पार्षद अधिकारियों के खिलाफ हंगामा कर मोर्चा खोलेंगे।

--------

नगर आयुक्त ने स्वयं नहीं की जांच :

निगम बोर्ड में नगर आयुक्त केशव रंजन ने वार्ड पार्षदों के साथ गलत ढंग से पेश आने वाले अधिकारियों के खिलाफ स्वयं जांच करने का आश्वासन दिया था। लेकिन नगर आयुक्त ने स्वयं जांच नहीं कर उप नगर आयुक्त सफाई विशाल आनंद को यह कार्य दे दिया। पार्षदों की मानें तो विशाल आनंद के एनसीसी के कार्यपालक पदाधिकारी रहने के बाद अरविंद कुमार ने उनके साथ नगर प्रबंधक के रूप में कार्य किया। ऐसे में निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहीं है।

--------

सेवानिवृत्त की जगह दैनिक मजदूर रखने को मिलेगी मंजूरी :

मेयर सीता साहू की अध्यक्षता में शनिवार को होने वाली बैठक में जून 2017 के बाद निगम के वार्डो में सेवानिवृत्त हुए सफाई मजदूरों की जगह दैनिक वेतनभोगी मजदूरों को रखने का निर्णय लिया जा सकता है। इसके अतिरिक्त नगर निगम के सभी अंचल व अन्य जगहों पर रखे गए स्क्रैप को बेचने को लेकर निर्णय लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस