पटना, राज्य ब्यूरो। विशेष निगरानी इकाई (एसवीयू) ने भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ पदाधिकारी और मगध रेंज के तत्कालीन आईजी अमित लोढ़ा के खिलाफ भ्रष्टाचार और वित्तीय अनियमितता मामले में प्राथमिकी दर्ज की है। इससे पहले एसवीयू ने गया के तत्कालीन एसएसपी आदित्य कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करते हुए बुधवार को उनके तीन ठिकानों पर छापा मारा था।

विशेष निगरानी इकाई से मिली जानकारी के अनुसार, अमित लोढ़ा पर आरोप है कि उन्होंने सरकारी सेवक के पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार एवं निजी स्वार्थ लाभ में वित्तीय अनियमितता की। नेटफिलिक्स तथा फ्राइडे स्टोरी टेलर के साथ सरकारी सेवक होते हुए भी व्यावसायिक कार्य किए। बता दें कि इन दिनों नेटफिलिक्स पर वेब सीरीज खाकी देखी जा रही है। इसमें अमित लोढ़ा एसपी के रूप में नजर आ रहे हैं।

अमित लोढ़ा के भ्रष्टाचार और वित्तीय अनियमितता की जांच एजेंसियों द्वारा की गई। जांच रिपोर्ट की समीक्षा पुलिस मुख्यालय एवं वरीय प्राधिकार द्वारा विधिवत की गई। इसके बाद निगरानी विभाग के दिशा-निर्देश के आलोक में अमित लोढ़ा के खिलाफ पीसी एक्ट और आईपीसी की विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस मामले की जांच की जिम्मेदारी पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी को सौंपी गई है।

आईपीएस आदित्य और लोढ़ा के बीच है पुराना विवाद

गया के तत्कालीन एसएसपी आदित्य कुमार और मगध रेंज के तत्कालीन आईजी अमित लोढ़ा के बीच पुराना विवाद है। इनके विवाद की वजह से ही सरकार ने दोनों अधिकारियों को वहां से हटाकर मुख्यालय में प्रतिनियुक्त कर दिया था। इसके बाद दोनों अधिकारियों के खिलाफ जांच हुई। इसमें शराब केस में आदित्य कुमार पर केस दर्ज किया गया। आदित्य पर डीजीपी को फर्जी कॉल कराने के भी आरोप हैं। अब अमित लोढ़ा पर वित्तीय अनियमितता और भ्रष्टाचार में मामला दर्ज कर जांच शुरू की जा रही है।

Edited By: Yogesh Sahu

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट