पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार के 17 आश्रयगृहों (Shelter Home) में यौन शोषण और प्रताडऩा के मामले में बिहार सरकार (Bihar Government) ने सीबीआइ (CBI) की जांच में दोषी बनाए गए अफसरों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार (Chief Secretory) ने सीबीआइ से मिली रिपोर्ट गृह एवं सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को सौंपी है और उन्हें दोषी अफसरों की जांच की जिम्मेदारी दी है। 

अभी हाल ही में सीबीआइ ने सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) में शेल्टर होम मामले की रिपोर्ट सौंपी है। जिसमें बिहार के 25 तत्कालीन जिलाधिकारियों के अलावा 46 अन्य स्तर के पदाधिकारियों और 52 दूसरे लोगों और एनजीओ (NGO) पर भी कार्रवाई की अनुशंसा की गई। सीबीआइ ने इस रिपोर्ट की एक प्रति बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार को भी भेजी है। दीपक कुमार ने बताया कि उन्हें रिपोर्ट की प्रति मिल गई है, जिसका अध्ययन कराया जा रहा है। रिपोर्ट के अध्ययन से मिले नतीजों के आधार पर दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई होगी। 

इसी कड़ी में बुधवार को शेल्टर होम प्रकरण में सीबीआइ की जांच में दोषी अफसरों की रिपोर्ट गृह एवं सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को सौंपी गई। उन्हें दोषी पदाधिकारियों की रिपोर्ट का अध्ययन कर अपनी अनुशंसा से सरकार को अवगत कराने के निर्देश दिए गए हैं। 

आमिर सुबहानी ने बताया कि उन्हें अब तक 21 अफसरों की रिपोर्ट मिली है। हर अफसर की रिपोर्ट के साथ करीब-करीब दो हजार पन्नों का अनुलग्नक भी है, जिसका अध्ययन किया जाएगा। अध्ययन के आधार पर प्राप्त नतीजों से सरकार को अवगत कराया जाएगा, जो दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। एक प्रश्न के जवाब में सुबहानी ने दोषी अफसरों के नाम बताने से इनकार किया और कहा कि जांच के दौरान किसी पदाधिकारी के नाम सार्वजनिक नहीं किए जा सकते हैं। 

जिन तत्कालीन जिलाधिकारी के खिलाफ हुई जांच की अनुशंसा

  • पटना के दो जिलाधिकारी दो अधिकारी
  • मुंगेर एक जिलाधिकारी व दो अन्य 
  • गया के दो जिलाधिकारी, एक अन्य अधिकारी 
  • भागलपुर के दो जिलाधिकारी व  तीन अन्य अधिकारी
  • मोतिहारी के सात जिलाधिकारी व पांच अन्य अधिकारी
  • कैमूर के सात जिलाधिकारी 11 दूसरे अधिकारी 
  • अररिया के एक जिलाधिकारी व पांच अन्य अधिकारी
  • मधुबनी के दो जिलाधिकारी व पांच दूसरे अधिकारी
  • मधेपुरा के एक जिलाधिकारी व पांच दूसरे अधिकारी 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस