आरा,जासं। भोजपुर जिले के पीरो थाना में कार्यरत एक एएसआइ (ASI) कृपा नारायण झा को केस में मदद करने के नाम पर रिश्‍वत लेना महंगा पड़ा गया।रिश्‍वतखोरी संबंधी वीडियो वायरल होेने के बाद घूसखोर एएसआइ को गिरफ्तार कर लिया गया है। भोजपुर एसपी हर किशोर राय के आदेश पर बड़ी कार्रवाई के बाद महकमे में खलबली मच गई है। पकड़ा गया एएसआई मधुबनी जिले का निवासी है। इस मामले में पीरो थानाध्यक्ष अशोक चौधरी के बयान पर भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। हालांकि, पकड़े गए एएसआइ के पास कोई राशि बरामद नहीं हुई है। इधर, भोजपुर एसपी ने बताया कि केस में मदद के नाम पर पैसा लिए जाने की बात सामने आई है। इसलिए एफआइआर दर्ज करते हुए जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है। रिश्‍वतखोर एएसआइ को जल्द बर्खास्त कर दिया जाएगा। साक्ष्य के तौर पर पैसा लेते वीडियो भी मिला है। गुरुवार को कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा।

केस डायरी  में मदद के लिए रिश्‍वत लेने  का आरोप

बताया जाता है कि पीरो के राजपुर गांव में एक ही समाज के दो गुटों में झड़प हुई थी। दोनों तरफ से केस हुआ था। आरोपितों ने केस में जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी दी गई थी। जिस पर कोर्ट ने डायरी मांगी थी। राजपुर निवासी सुशील कुमार डायरी में मदद के लिए आइओ सह एएसआइ कृपा नारायण झा से मिला था। एएसआइ ने रिश्‍वत की मांग की थी। रिश्‍वत लेते हुए वीडियो बनाकर  इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया गया था। वायरल वीडियो एसपी को भी मिला था। उसके आधार पर एसपी ने जांच कर कार्रवाई किए जाने का आदेश दिया था। सूत्रों के अनुसार  पीरो डीएसपी को जांच का आदेश दिया था। इसके बाद एएसआई को गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल, पकड़े गए एएसआइ को पीरो थाने में रखकर कर पूछताछ की जा रही है।

चुनाव के समय में बक्सर से बदलकर आए थे भोजपुर

बताया जा रहा कि गिरफ्तार एएसअाइ कृपा नारायण झा पहले बक्सर के डुमरांव में कार्यरत था। विधान सभा चुनाव के समय तबादले के दौरान बदलकर भोजपुर आया था। करीब तीन-चार महीने से पीरो थाना में कार्यरत था। इधर, पीरो के राजपुर गांव में घटित मारपीट की घटना के मामले में उसे अनुसंधान अधिकारी (आइओ) बनाया गया था। 

----

*भ्रष्टाचार व वसूली के चक्कर में तीन महीने के अंदर पांच पुलिसकर्मी धराए*

आरा: भोजपुर जिले में महज तीन महीने के अंदर भ्रष्टाचार व अवैध वसूली में दारोगा से लेकर पांच पुलिसकर्मियों को हवालात की हवा खानी पड़ चुकी है। छह दिसंबर 2020 को भोजपुर एसपी हर किशोर राय के आदेश पर अवैध वसूली में ही चांदी थाना के एक चौकीदार अक्षय को गिरफ्तार जेल भेज दिया गया था। अभी चार जनवरी को ही बड़हरा थाना के एक दफादार विनय पांडेय द्वारा अवैध वसूली की तस्वीरें और वीडियो के वायरल होने के बाद एसपी के आदेश पर अविलंब केस दर्ज करते हुए गिरफ्तारी की कार्रवाई की गई थी। बड़हरा थाना अन्तर्गत आरा-छपरा फोरलेन पर बबुरा चेकपोस्ट पर दफादार विनय पांडेय द्वारा अवैध वसूली की जा रही थी। इसके बाद 20 जनवरी को चांदी थाना में कार्यरत दारोगा जितेन्द्र सिंह को बालू लदे ट्रकों से अवैध वसूली करते पकड़ा गया था। इसके बाद नौ फरवरी को सहार में होमगार्ड जवान विजय सिंह ट्रक से अवैध वसूली करते पकड़ा गया था। इधर, 10 फरवरी को पीरो थाना में कार्यरत एएसआई कृपा नारायण झा द्वारा केस में रिश्वत लिए जाने संबंधी वीडियो वायरल होने के बाद पकड़े जाने की बात सामने आ रही है।

---

Edited By: Vyas Chandra