पटना, जेएनएन। घुटने के प्रत्यारोपण को लेकर लोग दिल्ली, मुंबई व बेंगलुरु आदि शहरों का रुख करते हैं अब ऐसी सुविधा बिहार की राजधानी पटना में मिलने जा रही है। राजधानी में देश के दूसरे मेडिकल रोबोट से मरीजों के घुटने का प्रत्यारोपण होगा।

वर्तमान में केवल चेन्नई में है ये सविधा

इसके लिए देश के दूसरे मेडिकल रोबोट 'मेको' को पटना लाया जा रहा है। वर्तमान में केवल चेन्नई में इस तरह का एक रोबोट काम कर रहा है। इसकी कीमत 14 करोड़ रुपये है। पटना में यह रोबोट अनूप इंस्टीट्यूट ऑफ रिहैबिलेटेशन सेंटर में स्थापित किया जाएगा। रोबोट इसी साल मई में पटना लाया जाएगा। इस सुविधा से बिहार के साथ उत्तर भारत के मरीजों को सुविधा होगी।

अमेरिका जाकर लिया इस्तेमाल का प्रशिक्षण

संस्थान के निदेशक डॉ. आशीष सिंह ने अमेरिका जाकर इसके इस्तेमाल के लिए प्रशिक्षण लिया है। कहा कि बिहार समेत पूरे देश में घुटना प्रत्यारोपण के मामले बढ़ रहे हैं। बिहार में घुटना प्रत्यारोपण विशेषज्ञों की कमी को देखते हुए मेडिकल रोबोट लाने की जरूरत समझी गई।

बिहार के साथ उत्तर भारत के मरीजों को होगी सुविधा

इससे न केवल बिहार बल्कि उत्तर भारत के मरीजों को काफी सुविधा होगी। विशेषज्ञों का कहना है कि रोबोट से घुटने का वही हिस्सा बदला जाता है, जो खराब होता है। जिस हिस्से में घुटना ठीक रहता है, उसके साथ छेड़छाड़ नहीं की जाती। इससे ऑपरेशन के दौरान समय की बचत होती है। रक्तस्राव कम होता है और घाव जल्दी भर जाता है। अमेरिका में रोबोटिक आर्म असिस्टेंट सिस्टम का उपयोग किया जा रहा है। 

मोटापा बढ़ा रहा घुटने का दर्द

पटना। चिकित्सकों का कहना है कि लोगों की जीवनशैली में आए बदलाव के कारण मोटापे की समस्या तेजी से बढ़ रही है। इसके कारण ही लोगों में घुटने की परेशानी बढ़ रही है। घुटने में दर्द ज्यादा बढ़ जाने पर प्रत्यारोपण की जरूरत पड़ती है। 

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस