बिहटा, संवाद सूत्र। बिहटा-आरा राष्ट्रीय राजमार्ग-30 पर लेखन टोला गांव के पास बुधवार को तेज रफ्तार स्कार्पियो ने पैदल जा रहे एक ही परिवार के पांच लोगों को रौंद डाला, जिसमें मौके पर ही महिला और मासूम की मौत हो गई। वहीं, गंभीर रूप से जख्मी तीन लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। इधर, दुर्घटना के बाद आरोपित चालक वाहन छोड़ कर फरार हो गया।

हादसे की सूचना पर पहुंचे लोगों ने सड़क जाम कर वाहनों का परिचालन रोक दिया। पुलिस की गाड़ी पर भी लोगों का गुस्सा फूटा। उन्होंने डायल 112 की गाड़ी क्षतिग्रस्त कर दी। रात 10 बजे तक पुलिस आक्रोशित लोगों को समझाने में जुटी रही। थानाध्यक्ष सनोहर खान ने बताया कि आरोपित की पहचान की जा रही है। दुर्घटनाग्रस्त वाहन जब्त कर लिया गया। उसके मालिक की पहचान की जा रही है।

बाजार कर लौट रही थीं महिलाएं

बताया जाता है कि एक ही परिवार की महिलाएं और बच्ची परेव बाजार से खरीदारी कर लौट रही थीं। मृतकों में लक्ष्मणपुर बेला गांव निवासी मिथिलेश राय की पत्नी सुभांती देवी और राजेंद्र राय की दो वर्षीय पुत्री भूरी कुमारी शामिल हैं। वहीं, घायलों की पहचान दूजा देवी एवं आरती और सुंदर के रूप में हुई है।

स्थानीय लोगों की मदद से लहूलुहान हालत में सभी को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां से डाक्टर ने सभी को पटना रेफर कर दिया। घायलों की हालत चिंताजनक बनी है। इधर, मौत की खबर मिलते ही घर में कोहराम मच गया। बच्ची को खोने के गम से राजेंद्र सदमे में हैं। स्वजनों में चीख-पुकार मची है।

बिगड़ गया था चालक का संतुलन

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो स्कार्पियो चालक तेज रफ्तार में था। उसने एनएच पर खड़े ट्रक में टक्कर मार दी, जिसके बाद चालक ने संगुलन खो दिया और स्कार्पियो ने सामने से पैदल आ रहे लोगों को रौंदते हुए खड़ी हो गई। जब तक लोग समझ पाते, तब तक आरोपित चालक मौके से भाग निकला। बताया जा रहा है कि मृत सुभांती मायके आई थी। उनकी मौत की खबर सुनकर ससुराल के लोग भी पहुंच गए।

मनेर में ट्रैक्टर ने आटो में मारी सीधी टक्कर, एक की मौत

मनेर थाना क्षेत्र में एनएच-30 पर बरैया टोला के समीप ट्रैक्टर ने आटो में सीधी टक्कर मार दी। हादसे में सादिकपुर गांव निवासी 58 वर्षीय उमेश साव की मौत हो गई, जबकि उनके भतीजे गोलू और अवधेश साह गंभीर रूप से जख्मी हो गए। वे आटो से बिहटा बाजार जा रहे थे। दुर्घटना के बाद चालक ट्रैक्टर लेकर भागने में कामयाब रहा। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं, घायलों को उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि इलाके में बेतरतीब ढंग से ट्रैक्टर का परिचालन हो रहा है, मगर प्रशासन इस पर कोई कार्रवाई नहीं करता।

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट