पटना, जेएनएन। Heavy Rains Bihar Upadate: बिहार में पिछले 24 घंटे में केवल पटना में ही 158 मिमी बारिश हुई है, जबकि बेगूसराय में भी 132 मिमी बारिश होने की बात कही गई है। पटना का हालात 1975 जैसा हो गया है। मौसम विभाग का रेड अलर्ट का असर इस कदर होगा, लोगों ने इसकी कल्‍पना नहीं की थी। आफत की बारिश ने लोगों को घरों में दुबकने पर मजबूर कर दिया है। पटना झील में तब्‍दील हो गया है। पटना, मुजफ्फरपुर, मोतिहारी, बेतिया, भागलपुर समेत कई जिलों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं। एनडीआरएफ-एसडीआरएफ की टीम बचाव कार्य में उतर गई है। छपरा जिले के जलालपुर प्रखंड में सोंधी नदी के दबाव से बांध टूटने की खबर है। इससे हजारों एकड़ में लगी फसल जलमग्न हो गई है। 

पटना समेत कई जिलों में बारिश के साथ आंधी के कारण पेड़ उखड़ गए हैं। हालांकि अभी जान-माल की क्षति का आकलन किया जा रहा है। वहीं सीएम नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक की है। पिछले 24 घंटे से हो रही अनवरत बारिश ने राजधानी पटना को झील बना दिया है। 158 मिमी बारिश सिर्फ पटना में हो चुकी है। घर, दुकान, रेमंड का शोरूम अस्पताल, रेलवे स्टेशन, बस अड्डे सब जलमग्न हैं। बारिश से रेल, बस और हवाई सेवाएं प्रभावित हुई हैं। गंगा समेत सभी छोटी-बड़ी नदियां उफान पर हैं। पटना के आसपास के जिलों भोजपुर, वैशाली, सिवान, गोपालगंज, छपरा, जहानाबाद, बक्सर, बिहारशरीफ, शेखपुरा का भी तेज बारिश से हाल बेहाल है। 

भारी बारिश से छपरा जिले के जलालपुर प्रखंड में सोंधी नदी के पानी के दबाव से लंगड़ी बांध टूट गया। इससे हजारों एकड़ फसल जलमग्न हो गई। वहीं गोपालगंज में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। सिवान में सरयू में पानी काफी बढ़ गया है। बक्सर में गंगा उफान पर हैं।

 

बेगूसराय में 132 एमएम बारिश से दो ट्रेनें रद कर दी गई हैं, जबकि तीन का रूट बदल दिया गया है। वहीं राज्यरानी और कटिहार इंटरसिटी को बरौनी से ही लौटा दिया गया है। बिहारशरीफ में एसपी आवास समेत निचले इलाके के कई घरों में बारिश का पानी घुस गया है। आरा-सासाराम एवं पटना-बक्सर रेलखंड पर जगह-जगह जलजमाव हो गया है, जिससे ट्रेनों का परिचालन बाधित है। वैशाली में हाजीपुर शहर की अधिकतर सड़कें पानी में डूब गईं हैं। जहानाबाद शहर में पानी जमा हो गया है। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस