पटना, जेएनएन। बिहार के कटिहार में विवादित बयान को लेकर पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की परेशानी बढ़ गई है। उनके बयान को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है। मिल रही जानकारी के अनुसार शनिवार को चुनाव आयोग ने नवजोत सिंह सिद्धू को नोटिस जारी किया है। 

भारत के निर्वाचन आयोग ने पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को नोटिस जारी कर कटिहार में दिए गए विवादित भाषण पर स्‍पष्‍टीकरण मांगा है। सिद्धू ने यह विवादित भाषण 24 अप्रैल को कटिहार की जनसभा में दिया था। हालांकि कटिहार के कांग्रेस प्रत्‍याशी तारिक अनवर ने भी बयान की निंदा की थी।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग की सख्ती को धता बताते हुए कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने 24 अप्रैल को कटिहार की एक सभा में सीधे तौर पर अल्पसंख्यकों से एकजुट होकर कांग्रेस के पक्ष में वोट देने की अपील की थी। इतना ही नहीं, उन्होंने चेतावनी के लहजे में कहा कि आप 64 परसेंट हो। इकट्ठे हुए और एकजुट होकर वोट डाला तो मोदी सुलट जाएगा। सिद्धू के इस बयान को प्रशासन ने गंभीरता से लिया। फ्लाइंग स्‍क्‍वॉयड की टीम ने सिद्धू के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और इसकी शिकायत चुनाव आयोग को भेजी।  

सिद्धू ने यह भी कहा था कि आज साजिश हो रही है। मैं आप सबको चेतावनी देने आया हूं मुस्लिम भाइयों। आप 64 परसेंट आबादी हो यहां पर। आप मेरी पगड़ी हैं। आप सब लोग पंजाब में काम करने जाते हैं। आपको वहां हमारा प्यार मिलता है। इज्जत मिलती है। ये बांट रहे हैं आपको। मुस्लिम भाइयों, ये यहां पर ओवैसी जैसे लोगों को खड़़ा करके आपके वोटों को बांटकर जीतना चाहते हैं। 

उन्होंने कहा कि 64 परसेंट आपकी आबादी है। माइनोरिटी नहीं, मेजोरिटी में है यहांं पर। यदि तुम इकट्ठे हुए और एकजुट होकर वोट डाला, तो सब पलट जाएंगे, मोदी सुलट जाएगा। मोदी को बाउंड्री से पार कर दो। बताया जाता है कि इसी भाषण को लेकर निवार्चन आयोग ने शनिवार को सिद्धू को नोटिस भेजकर स्‍पष्‍टीकरण मांगा है। 

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप