पटना [राज्य ब्यूरो]। बिहार के राज्यपाल एवं कुलाधिपति फागू चौहान ने राज्य के विश्वविद्यालयों में सुधार के प्रयासों में और तेजी लाने तथा गुणवत्ता विकास को प्राथमिकता देने का आदेश सभी कुलपतियों को दिया है। राज्यपाल चौहान की अध्यक्षता में बुधवार को राजभवन में उच्च शिक्षा में गुणवत्ता विकास और सुधार को लेकर  उच्चस्तरीय बैठक हुई। इसमें राज्यपाल के समक्ष पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के जरिये राज्य में उच्च शिक्षा में गुणवत्ता विकास के लिए किये जा रहे प्रयासों पर प्रकाश डाला गया।

उन्होंने कुलपतियों को साफतौर से कहा कि उच्च शिक्षा में गुणवत्ता विकास के कार्य में रूकावट नहीं आनी चाहिए, बल्कि उच्च शिक्षा में गुणवत्ता विकास को प्राथमिकता देते हुए छात्रों के भविष्य को संवारने में जुट जाएं। बैठक में राज्यपाल के प्रधान सचिव  विवेक कुमार सिंह एवं अपर सचिव  विजय कुमार सहित राज्यपाल सचिवालय के सभी वरीय अधिकारी उपस्थित थे। 

शैक्षणिक सत्र में सुधार अनिवार्य

राज्यपाल एवं कुलाधिपति फागू चौहान ने कुलपतियों को आदेश दिया कि विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक सत्र का नियमित सुधार अनिवार्य है। समय से कक्षाएं संचालित हो और शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित हों। उन्होंने पांच विश्वविद्यालय में विभिन्न सत्रों के लंबित परीक्षाओं पर कड़ी हिदायत देते हुए आदेश दिया कि मगध विश्वविद्यालय, बोधगया, वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा, जय प्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा, बीएन मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा तथा बीआर अम्बेदकर बिहार विश्वविद्यालय, मुजफ्फरपुर में लंबित परीक्षाओं को यथाशीघ्र करा लें। इसके लिए कुलपतियों और परीक्षा नियंत्रकों की बैठक राजभवन में शीघ्र की जाएगी। उन्होंने कुलपतियों को आदेश दिया कि इस साल के अंत तक सभी लंबित परीक्षाओं को करा लें और उसके परीक्षाफल सुनिश्चित होनी चाहिए।

नवसृजित विश्वविद्यालयों में विकास कार्यों को प्राथमिकता

राज्यपाल ने नवसृजित पूर्णिया विश्वविद्यालय, मुंगेर विश्वविद्यालय तथा पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय को विकास कार्यों में तेजी लाने और प्रशासनिक कार्यों को प्राथमिकता देने का आदेश कुलपतियों को दिया है। उन्होंने आदेश दिया है कि लंबित सभी परीक्षाओं का शीघ्र कराएं। यदि इसमें देरी हुई तो इसे गंभीरता लिया जाएगा। राज्यपाल ने नवसृजित विश्वविद्यालयों एवं उनके पैतृक विश्वविद्यालयों को समन्वय और पारस्परिक सहयोगपूर्वक परिसंपत्तियों एवं दायित्वों के वितरण एवं संपादन को प्राथमिकता देने का निर्देश दिया है। कहा कि इस मामले में किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप