पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। बिहार के सरकारी स्‍कूलों में व्‍यवस्‍था सुधारने के लिए कई स्‍तर पर कवायल चल रही है। इसी के तहत शिक्षा मंत्री ने राज्‍य के सरकारी स्‍कूलों में कक्षाओं का संचालन नियमित करने के लिए एक महीने का वक्‍त विभाग को दिया है। अब सभी स्‍कूलों के प्रभारी प्रधान शिक्षक, प्रधानाध्‍यापक और शिक्षकों को तीन महीने का विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। 

तबादले के लिए देने होंगे तीन विकल्प 

बिहार के प्राथमिक शिक्षा निदेशालय ने अवर शिक्षा सेवा (प्राथमिक शिक्षा) संवर्ग के शिक्षण तथा निरीक्षण शाखा में पदस्थापना के लिए तीन-तीन विकल्प देने को कहा है। प्राथमिक निदेशक रवि प्रकाश ने ई-मेल के जरिए विकल्प मांगा है। निर्देश के तहत शिक्षण संवर्ग वाले निरीक्षण संवर्ग में, जबकि निरीक्षण वाले शिक्षण संवर्ग में पदस्थापन का अवसर पा सकते हैं।

एक वर्ष से कम नौकरी बची हो तो गृह जिले में जाएं

राज्य के विभिन्न 79 बुनियादी विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों ने निरीक्षण शाखा में, जबकि 24 प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों ने निरीक्षण से शिक्षण शाखा में अपने स्थानातंरण को लेकर आवेदन दिया है। निदेशक ने आदेश में कहा कि जिनकी 30 सितम्बर 2023 तक एक वर्ष की या उससे कम की सेवा बची हो, वे गृह जिला में पदस्थापना का भी विकल्प दे सकते हैं। 

तीन हफ्ते तक नवाचारी शिक्षण का गुर सीखेंगे प्रधानाध्यापक 

बिहार के सभी प्रारभिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालयों के प्रभारी प्रधान शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों और शिक्षकों के लिए तीन सप्ताह तक नवाचारी शिक्षण का आनलाइन प्रशिक्षण लेंगे। इसके तहत दीक्षा पोर्टल पर विद्या अमृत माइक्रो इम्प्रूवमेंट प्रोजेक्ट आधारित नावाचारी शिक्षण शास्त्र की आरंभिक जानकारी दी जाएगी।

यूट्यूब के जरिए शिक्षकों को प्रशिक्षण 

यह विशेष कार्यक्रम यू-ट्यूब लाइव के माध्यम से शिक्षा मंत्रालय के स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के निर्देश होगा। शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक वे दुर्गापूजा की छुट्टी के बाद प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारंभ किया जाएगा। राज्य शैक्षिक शोध एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने सभी क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक और जिला शिक्षा पदाधिकारी को विस्तृत निर्देश भेज दिया है।

सभी शिक्षकों को भाग लेना अनिवार्य 

निर्देश में कहा गया है कि वे अपने-अपने जिले के प्राथमिक से लेकर प्लस टू स्कूलों तक के सभी प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षिका, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की वार्डेन, जिला एवं प्रखंड स्तरीय तकनीकी समूह के सदस्य, टोला सेवक एवं तालीमी मरकज को भाग लेना सुनिश्चित करें। 

Edited By: Shubh Narayan Pathak

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट