राज्य ब्यूरो, पटना : Good News For Teacher: स्वास्थ्य विभाग ने नियोजित मेडिकल टीचरों के मानदेय में बड़ी वृद्धि की है। मेडिकल टीचरों के मानदेय में 35 हजार से 48500 रुपये तक की वृद्धि की गई है। स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग ने 27 जुलाई 2017 में उस वक्त की दर के अनुसार चिकित्सा शिक्षकों के मानदेय का निर्धारण किया था, जिसमें वृद्धि की मांग लगातार हो रही थी। समिति ने इसमें वृद्धि की अनुशंसा की थी। जिसके बाद मेडिकल कालेज अस्पताल व अन्य अस्पतालों में तैनात चिकित्सा शिक्षकों का मानदेय बढ़ा दिया गया है। अब प्राध्यापक को 1.80 लाख रुपये मिलेंगे। 

    यह भी जानें

- 35 हजार से 48500 रुपये तक की गई वृद्धि 

- लंबे समय से की जा रही थी बढ़ोत्तरी की मांग

- समिति ने इसमें वृद्धि की अनुशंसा की थी

सामान्य प्रशासन विभाग के 17 सितंबर 2018 के आदेश के आलोक में स्वास्थ्य विभाग में संविदा के आधार पर नियोजित चिकित्सा शिक्षकों के मानदेय का निर्धारण मूल वेतन, महंगाई भत्ता व अन्य भत्ते के आधार पर किया जाता है। इसके पूर्व भी 2007 से ऐसी ही व्यवस्था रही है। स्वास्थ्य विभाग ने 27 जुलाई 2017 में उस वक्त की दर के अनुसार चिकित्सा शिक्षकों के मानदेय का निर्धारण किया था जिसमें वृद्धि की मांग लगातार हो रही थी। जिसके बाद प्राधिकृत समिति को मानदेय पुनर्निधारण का मामला सौंपा गया था। समिति ने इसमें वृद्धि की अनुशंसा की थी। जिसके बाद मेडिकल कालेज अस्पताल व अन्य अस्पतालों में तैनात चिकित्सा शिक्षकों का मानदेय बढ़ा दिया गया है। 

बढ़े मानदेय पर एक नजर : 

पद             वर्तमान मानदेय    बढ़ा मानदेय

प्राध्यापक            1,32,500          1,80,000

सह प्राध्यापक        86,500            1,35,000

सहायक प्राध्यापक   75,000            1,10,000    

Edited By: Akshay Pandey