भोजपुर, जागरण टीम। भोजपुर जिले के जगदीशपुर नगर स्थित जगा के पीपल वार्ड संख्या- 16 निवासी युवक राजेश कुमार उर्फ अनुज की हत्या षड्यंत्र के तहत घर पर बुलाकर की गई। इसका पर्दाफाश पुलिस के अनुसंधान में हुआ है। 13 अक्टूबर की रात जब राजेश दुर्गा पूजा पंडाल घूमने निकला था, उसी दौरान वह प्रेमिका के बुलावे पर उसके घर मोर्चा बाल टोला मुहल्ले में गया था। इस दौरान युवक को प्रेमिका के स्वजनों ने देख लिया। तब प्रेमिका के पिता व भाइयों ने उसे अगवा कर लिया और बगीचे की ओर ले गए। वहां गड़ासे से उसका गर्दन काटकर शव को वहीं पर झाड़ी में छिपा दिया। पूछताछ के दौरान प्रेमिका ने घर बुलाने की बात स्वीकार की है। साथ ही पिता व भाइयों ने उसकी हत्या करने की बात भी कबूल कर ली है।

स्कूल के समय से ही चला आ रहा था अफेयर

राजेश कुमार उर्फ अनुज और मोर्चा बाल पर निवासी युवती के बीच स्कूल के समय से ही प्रेम-प्रसंग चला आ रहा था। दोनों चोरी-छिपे मिला भी करते थे। इसकी जानकारी लड़की के घर वालों को हो गई थी। यह बात लड़की के घर वालों को नगवार लग रही थी। इसका कारण दोनों का अलग-अलग समाज से होना था। मृतक के मामा शिव शंकर साहू की मानें तो मोर्चा टोला गांव की एक लड़की ट्यूशन पढ़ने के लिए आती थी। उसी समय से दोनों एक-दूसरे के करीब आए थे। इसके बाद से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसी प्रेम प्रसंग को लेकर मोर्चा बाल टोला निवासी लड़की के परिवार वालों ने घटना को अंजाम दिया है।

यह भी पढ़ें- प्रेमी से शादी का झांसा देकर सिवान की युवती को ले गया यूपी, वहां प्रेमी की हत्‍या के बाद किया यह काम

मां-बाप की इकलौती संतान था राजेश कुमार

राजेश अपने मां-बाप की इकलौती संतान था। मृतक के परिवार में सिर्फ मां पूनम देवी हैं। शव मिलने के बाद मृतक के घर में कोहराम मच गया। जगदीशपुर पुलिस के अनुसार मारा गया युवक बाइक चोरी के मामले में करीब नौ महीना पहले जेल भी गया था। बाद में जमानत पर छूटकर बाहर आ गया था। तलाब से जो बाइक बरामद हुई है वह युवक की ही बतायी जा रही है। हालांकि, एफआइआर में बाइक का जिक्र नहीं है।

मृतक के सिर के अलावा हाथ-पैर भी गायब

सदर अस्पताल में आन ड्यूटी चिकित्सक डा.शैलेन्द्र कुमार ने शव के सड़-गले हालत में होने के कारण पोस्टमार्टम के लिए पटना रेफर कर दिया। पुलिस ने डीएनए जांच के लिए भी लिखा है। मृतक के मामा के अनुसार मृतक के सिर के अलावा हाथ-पैर भी गायब हैं। सिर भी नहीं मिल सका है। शर्ट से शव की पहचान हो सकी है। युवक की हत्या किए जाने के बाद साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से उसकी बाइक व मोबाइल को लड़की के स्वजनों ने तलाब में फेंक दिया था। बाद में पकड़े जाने के बाद उनकी निशानदेही पर तालाब में झागर लगाकर बाइक को बरामद किया गया। हालांकि, मोबाइल नहीं मिल सका। सिर के किसी जानवर द्वारा लेकर भागे जाने की आशंका जतायी जा रही है।

सिर पर डंडा मार किया बेहोश, फिर काटी गर्दन

युवक के अपहरण को लेकर एसपी विनय तिवारी ने जगदीशपुर एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया था। टीम ने पहले मोबाइल सर्विलांस के जरिए यह पता लगाया कि घटना की रात अंतिम बार उसने किससे बात की थी। इसके बाद टीम ने संदेह के आधार पर प्रेमिका के अलावा उसके पिता अवध बिहारी उर्फ मेढ़ू यादव समेत दो भाइयों राकेश व मिथि‍लेश को उठाया। सख्ती से पूछताछ शुरू की तो सारा राज खुल गया। पुलिस के अनुसार प्रेमी युवक के मोर्चा बाल टोला स्थित घर पहुंचने के बाद लड़की के स्वजनों ने पहले लाठी से सिर पर वार कर उसे बेहोश कर दिया। इसके बाद गड़ासे गर्दन काटकर हत्या कर दी। फिर, बोरा में शव को डालकर बगीचा में छिपा दिया। शव के ऊपर मिट्टी भी डाल दी।

घटना की रात प्रेमिका से 56 मिनट हुई थी बात

पुलिस के अनुसार मारे गए युवक व उसकी प्रेमिका के बीच घटना की रात करीब 56 मिनट बात हुई थी। लंबे समय तक बात करने के कारण पुलिस को शक हुआ। देखते ही देखते शक यकीन में बदल गया। जगदीशपुर इंस्पेक्टर संजीव कुमार व उनकी टीम ने कांड का पर्दाफाश कर दिया। अनुसंधान के दौरान यह भी बात सामने आई कि लड़की के घर वाले दूसरी जगह उसकी शादी तय करना चाहते थे। दो-तीन जगह रिश्ता तय भी किया था। लेकिन हर बार राजेश खलल डाल दिया करता था। लड़की की आप‍त्‍त‍िजनक तस्वीरें वर पक्ष को भेज दिया करता था। इससे रिश्ता टूट जाता था। इस बात को लेकर लड़की के घर वाले काफी खफा थे।

घर में युवक की शादी की चल रही थी तैयारी

जगदीशपुर जगा के पीपल टोला निवासी शिवधारी के घर में खुशी का माहौल एक पल में ही मातम में बदल गया। मृतक अनुज उर्फ राजेश गोड़ की अगले साल फरवरी माह में शादी तय हो गई थी। शादी के आयोजन को लेकर स्वजनों द्वारा शादी के लिए बैंड बाजा, गाड़ी सहित टेंट पंडाल आदि का सट्टा भी फाइनल तय कर दिया गया था। लेकिन होनी को कुछ और मंजूर था।

घटनाक्रम: एक नजर में

  • 12 अक्टूबर को राजेश सासाराम से अपने घर जगदीशपुर आया था।
  • 13 अक्टूबर की रात घर से पूजा पंडाल घूमने निकला था तब से लापता था।
  • 14 अक्टूबर को स्वजनों ने जगदीशपुर थाना में गुमशुदगी की प्राथमिकी दर्ज कराई थी।
  • 18 अक्टूबर को पुलिस ने शक के आधार पर लड़की के स्वजनों को उठाया
  • 19 अक्टूबर की सुबह मोर्चा बाल स्थित बगीचा से शव बरामद किया गया।

Edited By: Vyas Chandra