पटना [जेएनएन]। भुुसुंडा गांव निवासी एक युवक ने युवती को पहले अपने जाल में फोन पर फंसाया। उसके बाद गया शहर के विष्णुपद मंदिर में शादी कर ली। शादी के बाद जब लड़की को लड़के की असलियत के बारे में पता चला, तो परेशानी बढ़ गयी। वह युवक पर कोर्ट मैरेज का दबाव बनाने लगी।

युवक ने एेसा नहीं किया और उसे लेकर अपने घर भुसुंडा पहुंचा तो घरवालों ने दोनों को अपनाने से इन्कार कर दिया। उसके बाद युवक उसे अकेला छोड़कर फरार हो गया। जब प्रेमी के भाई ने दुल्हन की हालत देखी तो उसे दया आ गई और वह युवती के साथ मुफस्सिल थाने पहुंचा और युवती ने न्याय की गुहार लगायी है।

जानकारी के मुताबिक युवती सीतामढ़ी जिले के रुन्नीसैदपुर थानाक्षेत्र की रहनेवाली बतायी जाती है, उसे एक अॉटो चालक ने अपने प्यार के जाल में फंसा लिया। दोनोें के बीच फोन पर पिछले दस माह से बात हो रही थी. युवक मुफस्सिल थाना क्षेत्र के भुसुंडा गांव का रहनेवाला है और पेशे से अॉटो चालक है। 

बीती 15 मई को दोनों घर से भाग निकले और विष्णुपद मंदिर में शादी रचा ली। शादी के बाद युवक ने पत्नी को अपने किसी पहचान वाले के घर में ले जाकर रखा था। वहां लड़की को सबकुछ अटपटा-सा लगा, तो उसने ससुराल जाने की बात की। यह सुनकर युवक टालमटोल करने लगा।

जब उसने काफी जिद की तो युवक अपनी प्रेमिका को साथ लेकर अपने घर भुसुंडा पहुंचा। घरवालों ने दोनों की जमकर पिटाई की और घर से निकाल दिया। फिलहाल मुफस्सिल थाने की पुलिस युवती और युवक के भाई को अपने कब्जे में रखे हुए है और मामले की जांच की जा रही है।

थानाध्यक्ष कमलेश कुमार शर्मा ने बताया कि लड़की के पिता से फोन पर संपर्क किया गया तो उसने अपनी बेटी को अपनाने से इन्कार कर दिया। लेकिन, रून्नीसैदपुर थाने में लड़की के पिता ने बेटी के लापता होने की मामला दर्ज कराया था।सीतामढ़ी पुलिस से संपर्क किया जा रहा है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस